BREAKING NEWS
बिहारशरीफ में ईडी का बड़ा छापा : क्रिप्टो करेंसी से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग रैकेट का भंडाफोड़...        सदर अस्पताल बिहारशरीफ में मरीज को कंधो का सहारा...        लूट का आरोपी गिरफ्तार : पुलिस ने दिया अपराधियों को चुनौती, जल्द होंगे बाकी सभी काबू...        बेटी के जन्मदिन के लिए कर्ज वापसी की मांग पर महिला की निर्मम हत्या, आरोपी फरार...        पीसविंग प्रोडक्शन का नया प्रोजेक्ट : लीगल बाबा जल्द होगी रिलीज...        महिलाएं अब अपनी सुरक्षा के लिए स्वतंत्र होकर बोल सकती है : जानिए अपनी नजदीकी थाने का महिला हेल्प डेस्क नंबर...        बेगूसराय में भीषण सड़क दुर्घटना में नालंदा के युवक समेत पांच की मौत, दो गंभीर...        बिहार में जारी है बदलाव का दौर: जानिए नालंदा, नवादा और बेगूसराय में कौन संभालेगा प्रखंडों की कमान...        लायंस क्लब ऑफ नालंदा ने डॉक्टर्स और चार्टर्ड अकाउंटेंट डे पर किया विशेषज्ञों का सम्मान...        ससुराल में रह रहे दामाद की संदिग्ध मौत : घटना के जांच में जुटी पुलिस...       
post-author
post-author

महीने के दूसरे शनिवार को प्रखंडों में कैंप लगाकर बिजली की शिकायतों का होगा समाधान

Politics 17-Mar-2023   9332
post

पटना : ऊर्जा मंत्री विजेंद्र यादव ने बजट अनुदान मांग पढ़ना शुरू किया। उन्होंने कहा कि स्मार्ट प्रीपेड मीटर की शिकायतों की दूर करने के लिए एप में प्रावधान किया गया है। ऊर्जा मंत्री ने बताया कि 2012 से अबतक क्या सुधार हुआ है। उन्होंने बताया कि 2012 में 83 ग्रिड उप केंद्र थे, अब 161 है। उन्होंने घोषणा कि हर महीने के दूसरे शनिवार को प्रखंड स्तर पर शिकायत का कैंप लगेगा। ऊर्जा मंत्री ने शुक्रवार को सदन में विधायकों की ओर से शिकायत मिलने पर भी यह घोषणा की। उन्होंने फ्री बिजली की मांग को नकार दिया। सरकार सात-आठ हजार करोड़ सब्सिडी दे रही है, इससे ज्यादा करने की स्थिति नहीं है। फ्री देने की स्थिति बिहार में नहीं है। इसी आधार पर उन्होंने भाजपा के संजय सरावगी के कटौती प्रस्ताव को वापस लेने की मांग की, हालांकि सदन में भाजपा सदस्यों की गैर-मौजूदगी में कटौती प्रस्ताव को खारिज कर दिया गया।ऊर्जा मंत्री ने शिकायतों के बारे में दो वाकयों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि एक बुजुर्ग महिला उनके पास आई थी और बताया कि दो ही बल्ब जलाते हैं, लेकिन इतना बिल आ रहा है। इसकी जांच के लिए खुद गया तो देखा कि उसके घर में इतने उपकरण बिजली से चलाए जा रहे हैं कि बिल को गलत कहना ही गलती होगी। इसी तरह किसी ने शिकायत की कि उसके घर से बिजली का हाईटेंशन लाइन गुजार दिया गया है। इसकी जांच कराई गई तो पता चला कि बिजली की लाइन गुजरने के बाद वहां मकान का निर्माण किया गया। इन दो वाकयों का हवाला देते हुए ऊर्जा मंत्री ने विधानसभा सदस्यों से अपील की कि गलत बिजली बिल या इस हाईटेंशन लाइन आदि की शिकायतों को लेकर संवेदनशील रहें। पहले खुद पता कर लें कि शिकायत सही है। अगर सही हो तो हमारे संज्ञान में लाएं। वैसे, ऐसी ही शिकायतों के लिए अब मैं घोषणा करता हूं कि महीने के हर दूसरे शनिवार को प्रखंड स्तर पर बिजली कंपनी की ओर से शिकायत निवारण कैंप लगाया जाएगा और त्वरित समाधान का प्रयास किया जाएाग।

post-author

Realated News!

Leave a Comment

Sidebar Banner
post-author
post-author