BREAKING NEWS
बिहारशरीफ में ईडी का बड़ा छापा : क्रिप्टो करेंसी से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग रैकेट का भंडाफोड़...        सदर अस्पताल बिहारशरीफ में मरीज को कंधो का सहारा...        लूट का आरोपी गिरफ्तार : पुलिस ने दिया अपराधियों को चुनौती, जल्द होंगे बाकी सभी काबू...        बेटी के जन्मदिन के लिए कर्ज वापसी की मांग पर महिला की निर्मम हत्या, आरोपी फरार...        पीसविंग प्रोडक्शन का नया प्रोजेक्ट : लीगल बाबा जल्द होगी रिलीज...        महिलाएं अब अपनी सुरक्षा के लिए स्वतंत्र होकर बोल सकती है : जानिए अपनी नजदीकी थाने का महिला हेल्प डेस्क नंबर...        बेगूसराय में भीषण सड़क दुर्घटना में नालंदा के युवक समेत पांच की मौत, दो गंभीर...        बिहार में जारी है बदलाव का दौर: जानिए नालंदा, नवादा और बेगूसराय में कौन संभालेगा प्रखंडों की कमान...        लायंस क्लब ऑफ नालंदा ने डॉक्टर्स और चार्टर्ड अकाउंटेंट डे पर किया विशेषज्ञों का सम्मान...        ससुराल में रह रहे दामाद की संदिग्ध मौत : घटना के जांच में जुटी पुलिस...       
post-author
post-author

यदि आप अभी चार धाम यात्रा करना या गर्मी में उत्तराखंड में छुट्टी बिताना चाह रहे है तो हो जाएं सावधान : करें पूरी तैयारी नही तो बढ़ेगी परेशानी

Breaking News 16-Jun-2024   11712
post

हरिद्वार रेलवे स्टेशन पर जोखिम में यात्रियों की जिंदगी

दो जनरल और दो स्लीपर कोच में सवार होकर सफर कर रहे लाखो यात्री

आरक्षित सीट वाले यात्रियों को खड़े होकर करना पड़ रहा सफर

हरिद्वार : गर्मी की छुट्टियों, गंगा दशहरा और चार धाम यात्रा के चलते उत्तराखंड के हरिद्वार में रेलवे स्टेशन पर भारी भीड़ उमड़ रही है। यात्रियों की संख्या में अचानक हुई वृद्धि के कारण स्टेशन पर अव्यवस्था और अफरातफरी का माहौल है। हरिद्वार से बिहार और हावड़ा जाने के लिए केवल 2-3 ट्रेनें उपलब्ध हैं, जिनमें भी स्लीपर कोच की संख्या 1 या 2 ही है। लाखों की संख्या में यात्रियों के लिए इतनी कम संख्या में स्लीपर कोच अपर्याप्त हैं। 3 महीने पहले रिजर्वेशन करवा चुके यात्रियों को भी कन्फर्म बर्थ नहीं मिल पा रहा है। जनरल और वेटिंग टिकट वाले यात्री भी स्लीपर कोच में घुसकर यात्रा करने को मजबूर हैं। ट्रेन में चढ़ने के लिए धक्का-मुक्की और हादसे का खतरा बना हुआ है। कई यात्रियों की ट्रेनें छूट रही हैं। महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों को सबसे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। भूख-प्यास और भीड़ के कारण बच्चे रो रहे हैं।


प्रत्यक्षदर्शी यात्री ने बताया अपना अनुभव

शनिवार को हरिद्वार स्टेशन से पटना जाने वाले यात्री रोनित राज ने अपनी व्यथा बताई। उन्होंने बताया कि वे 12 दोस्तों के साथ चार धाम यात्रा पर आए थे। 15 जून को उनकी उपासना एक्सप्रेस ट्रेन में फरवरी महीने में ही टिकट बुक करवा लिया था, जोकि 10 से 20 वेटिंग तक था। लेकिन ट्रेन चार्ट बनने के बाद उनकी सिर्फ 3 टिकट कंफर्म हुई। जिसके बाद वे अपने 3-4 दोस्तों के साथ ही ट्रेन पर बड़ी मुश्किल से सवार हो सके। उन्होंने आगे बताया कि तीन आरक्षित सीट होने के बावजूद भी उन्हें और उनके दोस्तों को पूरे रास्ते खड़े होकर सफर करना पड़ा। उन्होंने देशभर में रेलवे की व्यवस्था खराब होने की बात कही। बिना टिकट वाले भी अब स्लीपर कोच में सफर कर रहे हैं और आरक्षण सीट वाले यात्री भी सफर नहीं कर पाते हैं। रेलवे को तुरंत अतिरिक्त ट्रेनें चलाने की आवश्यकता है। मौजूदा ट्रेनों में स्लीपर कोच की संख्या बढ़ाई जानी चाहिए। स्टेशन पर सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत किया जाना चाहिए।यात्रियों के लिए भोजन और पानी की समुचित व्यवस्था की जानी चाहिए।


यदि इस समस्या का जल्द समाधान नहीं किया गया तो बड़ा हादसा हो सकता है। यात्रियों की सुरक्षा और सुविधा को ध्यान में रखते हुए तत्काल कदम उठाए जाने चाहिए ताकि ऐसी घटनाओं को दोबारा होने से रोका जा सके।

post-author

Realated News!

Leave a Comment

Sidebar Banner
post-author
post-author