BREAKING NEWS
बिहारशरीफ में ईडी का बड़ा छापा : क्रिप्टो करेंसी से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग रैकेट का भंडाफोड़...        सदर अस्पताल बिहारशरीफ में मरीज को कंधो का सहारा...        लूट का आरोपी गिरफ्तार : पुलिस ने दिया अपराधियों को चुनौती, जल्द होंगे बाकी सभी काबू...        बेटी के जन्मदिन के लिए कर्ज वापसी की मांग पर महिला की निर्मम हत्या, आरोपी फरार...        पीसविंग प्रोडक्शन का नया प्रोजेक्ट : लीगल बाबा जल्द होगी रिलीज...        महिलाएं अब अपनी सुरक्षा के लिए स्वतंत्र होकर बोल सकती है : जानिए अपनी नजदीकी थाने का महिला हेल्प डेस्क नंबर...        बेगूसराय में भीषण सड़क दुर्घटना में नालंदा के युवक समेत पांच की मौत, दो गंभीर...        बिहार में जारी है बदलाव का दौर: जानिए नालंदा, नवादा और बेगूसराय में कौन संभालेगा प्रखंडों की कमान...        लायंस क्लब ऑफ नालंदा ने डॉक्टर्स और चार्टर्ड अकाउंटेंट डे पर किया विशेषज्ञों का सम्मान...        ससुराल में रह रहे दामाद की संदिग्ध मौत : घटना के जांच में जुटी पुलिस...       
post-author
post-author

जदयू से मीना सिंह का इस्तीफा

Politics 03-Mar-2023   10082
post

पटना : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बड़ा झटका लगा है. पूर्व सांसद मीना सिंह ने जेडीयू से इस्तीफा दे दिया है. पटना के मौर्या होटल में शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीना सिंह ने इसकी घोषणा की है. मीना सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार से वह अलग नहीं होना चाहती थीं, लेकिन जिस तरीके से उन्होंने जंगलराज के युवराज को अपना उत्तराधिकारी घोषित कर दिया है बिहार की जनता डर गई है. पुराने दौर की वापसी दिख रही है. जेडीयू के साथ मेरा रहना नाइंसाफी होता.मीना सिंह ने कहा कि 2014 में भी वह नीतीश कुमार के साथ रहीं जबकि बहुत सारे लोग छोड़ कर उन्हें चले गए. जेडीयू को उन्होंने कभी नहीं भूला. 2015 में भी बिहार में महागठबंधन बना, लेकिन आम-अवाम को इसलिए चिंता नहीं हुई क्योंकि पूरी मजबूती से नेतृत्व नीतीश कुमार के पास ही रहा. भ्रष्टाचार के छींटे सहयोगी दल पर लगे तो बिना देर किए नीतीश कुमार ने नाता तोड़ लिया. आज की स्थिति दूसरी और बहुत ही भयावह है.बिहार की महागठबंधन सरकार पर मीना सिंह ने हमला बोला. कहा कि जब से यह सरकार बनी है पूरे बिहार में अपराधी तांडव कर रहे हैं. अपराध की घटनाएं बढ़ी हैं. ऐसा लग रहा है कि 2005 के पूर्व की तरह खास तरह के खिलाफ पुलिस को कार्रवाई करने से रोक दिया गया है. जनता परेशान है. जंगल राज रिटर्न साफ-साफ दिख रहा है, लेकिन नीतीश कुमार को कोई फिक्र नहीं है.पूर्व सांसद मीना सिंह ने कहा कि सबसे दुखद पल तो वो रहा जब नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव को अपना उत्तराधिकारी घोषित कर दिया. इसके बाद तो वह विचलित हो गईं. उनके लोग कहने लगे कि अब जेडीयू में क्या बचा है. आगे वह क्या करेंगी इस पर कहा कि अपने समर्थकों के साथ बैठक कर विचार करेंगी. बिहार हित में जो मंजूर होगा उसी रास्ते पर चलेंगी. मीना सिंह के साथ बड़ी संख्या में दूसरे नेताओं ने भी जेडीयू की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया.

post-author

Realated News!

Leave a Comment

Sidebar Banner
post-author
post-author