BREAKING NEWS
बिहारशरीफ में ईडी का बड़ा छापा : क्रिप्टो करेंसी से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग रैकेट का भंडाफोड़...        सदर अस्पताल बिहारशरीफ में मरीज को कंधो का सहारा...        लूट का आरोपी गिरफ्तार : पुलिस ने दिया अपराधियों को चुनौती, जल्द होंगे बाकी सभी काबू...        बेटी के जन्मदिन के लिए कर्ज वापसी की मांग पर महिला की निर्मम हत्या, आरोपी फरार...        पीसविंग प्रोडक्शन का नया प्रोजेक्ट : लीगल बाबा जल्द होगी रिलीज...        महिलाएं अब अपनी सुरक्षा के लिए स्वतंत्र होकर बोल सकती है : जानिए अपनी नजदीकी थाने का महिला हेल्प डेस्क नंबर...        बेगूसराय में भीषण सड़क दुर्घटना में नालंदा के युवक समेत पांच की मौत, दो गंभीर...        बिहार में जारी है बदलाव का दौर: जानिए नालंदा, नवादा और बेगूसराय में कौन संभालेगा प्रखंडों की कमान...        लायंस क्लब ऑफ नालंदा ने डॉक्टर्स और चार्टर्ड अकाउंटेंट डे पर किया विशेषज्ञों का सम्मान...        ससुराल में रह रहे दामाद की संदिग्ध मौत : घटना के जांच में जुटी पुलिस...       
post-author
post-author

बीजेपी जॉइन करने के बाद पटना पहुंचे आरसीपी : पार्टी ऑफिस में हुआ स्वागत

Politics 18-May-2023   10619
post

Patna : पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह भाजपा में शामिल होने के बाद गुरुवार को पटना पहुंचे। बैंड-बाजे के साथ आरसीपी सिंह के समर्थक एयरपोर्ट पर मौजूद थे। हालांकि यहां उनके स्वागत में भाजपा का कोई भी बड़ा नेता एयरपोर्ट पर नहीं दिखाई दिया।पार्टी जॉइन करने के बाद आज वो पहली बार पटना पहुंचे। पटना एयरपोर्ट पर आरसीपी सिंह ने नीतीश कुमार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा- नीतीश कुमार खत्म हो चुके हैं। बीजेपी को जदयू से कोई चुनौती नहीं है। नीतीश कुमार पर्यटक मुख्यमंत्री बन चुके हैं।

हालांकि, पार्टी ऑफिस में आरसीपी सिंह का स्वागत किया गया। यहां प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी, राज्यसभा सांसद सुशील मोदी ने उनका स्वागत किया। मौके पर सम्राट चौधरी ने कहा कि आरसीपी सिंह के साथ आने से पार्टी मजबूत हुई है। 2024 में बिहार में जेडीयू का खाता तक नहीं खुलने दिया जाएगा।

बता दें कि जेडीयू छोड़ने के 9 महीने बाद 11 मई को दिल्ली में आरसीपी सिंह ने बीजेपी की सदस्यता ले ली। दिल्ली में पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह को केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने पार्टी में शामिल कराया था।बीजेपी में शामिल होने के बाद आरसीपी सिंह पहली बार बिहार प्रदेश कार्यालय पहुंचे। यहां उनका जोरदार स्वागत किया गया। इस दौरान सम्राट चौधरी ने उनका गर्मजोशी से स्वागत किया। उन्होंने कहा कि आज आरसीपी सिंह के आने से बीजेपी और मजबूत हुई है। हमें उनका समर्थन मिला है। हम उनकी पूरी टीम का स्वागत करते हैं।सम्राट चौधरी ने कहा कि नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि 2024 के लोकसभा चुनाव में नीतीश कुमार की पार्टी का खाता तक नहीं खुलने वाला है। उनकी पार्टी ने मुझे नोटिस भेजा है। मैं तो आज भी नीतीश जी के लिगल नोटिस का जवाब देने को तैयार हूं। मैं भी जल्द ही एक लिस्ट जारी करूंगा जिसमें ये जानकारी होगी कि कितने जगह जदयू के लोग शराब माफिया से जुड़े हैं। कल तक नीतीश जी जिस लव-कुश समीकरण की राजनीति करते थे। आज लव-कुश समाज पूरी तरह से हमारे साथ हैं।पहली बार बिहार प्रदेश कार्यालय पहुंचे आरसीपी सिंह ने भी सीएम नीतीश पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने कहा कि हम पहले भी कहते थे आज भी कह थे। सीएम नीतीश हमेशा से पीएम मेटेरियल रहे है। पी मतलब पलटी एम मतलब मार। जदयू डूबता हुआ जहाज है, जो अब पूरी तरह से डूब चुका है।

11 मई को बीजेपी में हुए थे शामिल

जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह 11 मई को बीजेपी में शामिल हुए थे। उन्हें दिल्ली के बीजेपी ऑफिस में केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने पार्टी की सदस्यता दिलाई थी। आरसीपी सिंह ने कहा था, नीतीश जी बोलते हैं कि देश में कोई काम नहीं हो रहा है। वो देखें आज देश कहां चला गया है और बिहार कहां खड़ा है। पहले नीतीश को क्राइम से नरफत थी। उन्हें C से बहुत प्रेम है और C से चेयर होता है, इसलिए कुर्सी के मोह में सारा काम कर रहे हैं। बिहार में आज 2005 से भी बुरे हालात हैं।कई महीनों से आरसीपी सिंह के बारे में बीजेपी में शामिल होने की अटकलें चल रही थीं। करीब 9 महीने बाद आरसीपी सिंह किसी पार्टी के सदस्य बने हैं। इससे पहले वह जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके हैं और केंद्र में इस्पात मंत्री रह रहे हैं।

नीतीश कुमार को सब PM कहते हैं। मैंने भी उन्हें कहा कि आप PM थे, PM हैं और PM रहेंगे। पीएम मतलब पल्टीमार। उन्होंने कितनी बार विश्वासघात किया है।

आरसीपी सिंह सीएम नीतीश के काफी करीबी रहे हैं। वह मुख्यमंत्री के ही गृह जिले नालंदा से आते हैं। आरसीपी वहां से लोकसभा चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं। जदयू छोड़ने के बाद नालंदा में सक्रिय हैं।आरसीपी सिंह नीतीश कुमार के साथ लगभग 24 साल तक रहे थे। जब वह केंद्रीय मंत्री बने और उन्हें तीसरी बार राज्यसभा सदस्य बनाना था तो नीतीश कुमार की पार्टी जदयू ने उन्हें राज्यसभा के लिए नहीं भेजा। इसके बाद उन्हें मंत्री पद छोड़ना पड़ा। उसके तुरंत बाद ही आरसीपी सिंह ने जदयू की प्राथमिक सदस्यता से भी इस्तीफा दे दिया। तब से वह किसी पार्टी या दल में शामिल नहीं हुए थे।

post-author

Realated News!

Leave a Comment

Sidebar Banner
post-author
post-author