बुनियादी विकल्प बेगूसराय के अध्यक्ष सीताराम किलकारी सम्मान से नवाजे गए।

तेघरा (बेगूसराय) बेगूसराय जिला साक्षरता समिति की स्थापना काल से निरंतर साक्षरता अभियान को अपने लक्ष्य एवं कामयाबी की ओर ले जाने एवं कला संस्कृति के क्षेत्र में बेगूसराय को गौरवान्वित करने मैं कोरिया बसदेवपुर के सीताराम शर्मा का बहुत ही बड़ा भागीदारी व योगदान रहा है।
ये अपने कला व संस्कृति के बदौलत कई क्षेत्रों में महारत हासिल कर चुके हैं। चाहे नाट्य कला का क्षेत्र हो, चित्रकला का क्षेत्र हो, पुस्तक एवं अखबारों में डिजाइनिंग का क्षेत्र हो, नई-नई खोज व रिसर्च का क्षेत्र हो, कोई भी बेकार वस्तु को एक अलग रूप देने की बात हो, नृत्य कला हो ,हर्ष कला की बात हो, अंधविश्वास की पर्दाफाश की बात हो, विज्ञान के चमत्कार की बात होगी, कोई भी आयोजन को आकर्षण का केंद्र बनाने की बात हो, बिहार सरकार के स्टेशनरी की साज-सज्जा एवं चित्रांकन की बात हो, बिहार सरकार के शराबबंदी से लेकर बाल विवाह उन्मूलन, दहेज प्रथा उन्मूलन, बापू आपके द्वार, के अलावे स्वास्थ्य विभागों के पोस्टर बैनर आदि मैं चित्र एवं कला के माध्यम से आम लोगों को जागरूकता फैलाने की बात हो इनका कोई दूसरा उदाहरण ही नहीं है। ये बरसों से इन तमाम गतिविधियों को बढ़ावा देते आ रहे हैं और इस क्षेत्र में यह बहुत बड़े प्रशिक्षक भी हैं जिनके माध्यम से बेगूसराय ही नहीं सुबे बिहार के अंदर इनके प्रशिक्षु शिष्य आज अलग-अलग क्षेत्रों में अपने बिहार का नाम रोशन कर रहे हैं। कई वर्षों पूर्व ये राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित भी किये जा चुके है। ये कवि नागार्जुन के पदचिन्ह पर सादगी एवं साधारण वेशभूषा एवं सादगी जीवन शैली के लिए प्रचलित हैं । जबसे जिला साक्षरता समिति की शुरुआत हुई ये अपनी आशियाना बेगूसराय जिला साक्षरता समिति कार्यालय को बनाए हुए हैं। जहां इनका रिसर्च सेंटर है। सीताराम जी बेगूसराय के युवाओं, कला प्रेमियों, शिक्षाविदों, साहित्यकारों, लेखकों, सोशल वर्करों , एवं समाजिक वैज्ञानिकों तथा मनोवैज्ञानिकों आदि के दिल का धड़कन बन चुके हैं। भारत सरकार के साक्षर भारत मिशन मैं संविदा पर बहाल हुए कर्मियों के मार्गदर्शक व शुभचिंतक हुआ करते थे। 31 मार्च 2018 को केंद्र एवं राज्य की सरकार द्वारा कार्यक्रम को वापस लेकर इस बिभाग में लगे हजारों कर्मियों को बेरोजगारी से इनके दिल को काफी आहत पहुंचा। इन्होंने जिला सचिव एसएन आजाद से मंत्रणा कर बेगूसराय जिला में बुनियादी विकल्प की स्थापना की जो साक्षरता के बचे हुए कार्य को पूरा कर सके एवं बेरोजगार हुए कर्मियों को आशा दिला सके तथा आगे सरकार से इन तमाम कर्मियों को फिर से समायोजन किया जा सके इसके लिए ये निरंतर कार्य करते आ रहे हैं। बेगूसराय बुनियादी विकल्प बेगूसराय के अध्यक्ष भी हैं। बिहार सरकार द्वारा 2021किलकारी श्री” सम्मान के लिए इनका चयन हुआ। और बाल दिवस के अवसर पर किलकारी भवन पटना में बिहार सरकार के माननीय शिक्षा मंत्री श्री विजय चौधरी द्वारा समारोह पूर्वक इन्हें किलकारी श्री सम्मान से नवाजा गया । इनके सम्मान को लेकर पूरे बेगूसराय व बिहार के कला प्रेमी व अन्य क्षेत्रों के लोगों में काफी हर्ष और उत्साह का माहौल बना हुआ है।

*अशोक कुमार ठाकुर की रिपोर्ट*

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *