ESC

सावन की दूसरी सोमवारी में बाबाधाम में श्रद्धालुओं का उमड़ा जनसैलाब : बोल बम से गुुंजयमान हुआ इलाका

राजकीय श्रावणी मेला, 2022 की दूसरी सोमवारी और मेले के 12वें दिन अहले सुबह से ही मंदिर प्रांगण और आसपास के क्षेत्र बोल बम के नारों से गुंजयमान है. दूसरी सोमवारी को बाबा मंदिर में देर शाम तक करीब तीन लाख कांवरियों के आकर जलार्पण करने की संभावना है. सुबह से ही जिला प्रशासन कांवरियों की सुख- सुविधा को लेकर तत्पर हैं. बता दें कि पहले सोमवारी को करीब दो लाख कांवरियों ने बाबाधाम में जलार्पण किया था.दूसरी सोमवारी को अहले सुबह 03:50 बजे मंदिर का पट खुलते ही जलार्पण शुरू हो गया. कांवरियों की कतार तड़के सुबह कुमैठा तक पहुंच गयी थी. श्रावणी मेला में इन शिवभक्तों की गूंज से रूट लाइन गुंजायमान है और सभी कांवरिया कतारबद्ध होकर बाबा का जयघोष करते हुए निरंतर आगे बढ़ रहे हैं. वहीं, रुटलाइन में रात्रि से ही श्रद्धालुओं की सुविधा एवं सुरक्षा व्यवस्था की निगरानी लगातार उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी मंजूनाथ भजंत्री एवं वरीय अधिकारियों द्वारा की जा रही थी.सावन की दूसरी सोमवार को लेकर रविवार की देर रात से कांवरियों की कतार कुमैठा स्टेडियम तक पहुंच गयी थी. कांवरियों की कतार देर रात करीब दो बजे से ही चमारीडीह से कुमैठा की ओर बढ़ रही थी. कांवरियां रूट लाइन में बैठकर मंदिर के पट खुलने का इंतजार करते रहे. सुबह बाबा का पट खुलते ही कतार आगे बढ़ने लगी. कांवरिया हाथ में जलपात्र लिये बोल बम के जयकारे लगाते हुए आगे बढ़ रहे थे. कांवरियों की कतार सुबह 7 बजे तक एक सम्मान देखा गया. जो बाद में धीरे-धीरे सिमटने लगी. देर रात से ही रूट लाइन की मॉनिटिरिंग देवघर उपायुक्त मंजुनाथ भजंत्री, एसपी सुभाष चंद्र जाट, डीडीसी डॉ ताराचंद सहित अन्य अधिकारी करते रहे.दूसरी सोमवारी पर बाबा बैद्यनाथ मंदिर में जलार्पण के लिए कांवरियों का सैलाब उमड़ पड़ा है. रविवार की देर रात करीब एक लाख श्रद्धालु कतारबद्ध हो गये थे. जिला प्रशासन को अनुमान है कि सोमवार की देर शाम तक बाबा बैद्यनाथ पर जलार्पण के लिए तीन लाख श्रद्धालु बाबाधाम पहुंचेंगे. कांवरियों की संख्या में अप्रत्याशित वृद्धि को देखते हुए जिला प्रशासन अलर्ट मोड में है.

1 thought on “सावन की दूसरी सोमवारी में बाबाधाम में श्रद्धालुओं का उमड़ा जनसैलाब : बोल बम से गुुंजयमान हुआ इलाका

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ESC