सारण : सेकेंड डोज के रास्ते में आये बाधक को तोड़ने में सार्थक सिद्ध होगा “वार रूम”

अमित कुमार सिंह

सारण : सेकेंड डोज के रास्ते में आये बाधक को तोड़ने में सार्थक सिद्ध होगा “वार रूम”

• सिविल सर्जन ने प्रखंड स्तर पर वार रूम स्थापित करने का दिया निर्देश

• घर-घर दस्तक अभियान की राह होगा आसान

• सेकेंड डोज के लक्ष्य को शत-प्रतिशत हासिल करने में मिलेगी सफलता

छपरा। अब कोविड वैक्सीनेशन के सेकेंड डोज के रास्ते में आये बाधक को तोड़ने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने नई रणनीति तैयार की है। वार रूम के माध्यम से सेकेंड डोज के रास्ते में आये बाधक को तोड़ने का प्रयास किया जायेगा। इसके लिए प्रखंड स्तर पर वार रूम स्थापित किया जायेगा। इस संबंध में सिविल सर्जन डॉ. जेपी सुकुमार ने पत्र जारी कर सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को निर्देश दिया है। सिविल सर्जन ने बताया कि प्रत्येक प्रखंड में वार रूम का संचालन किया जायेगा। जहां पर प्रतिनियुक्त कर्मियों का दायित्व होगा कि वह सेकेंड डोज के ड्यू लाभार्थियों से दूरभाष के माध्यम से ट्रैक करें और इस बात का पता लगाएं कि उनके द्वारा वैक्सीन लिया गया है या नहीं। अगर यह पाया जाएगा कि वह टीकाकरण से वंचित है तो उनको नजदीकी सेशन साइट पर भेजवाकर सेकेंड डोज का टीकाकरण करवाना सुनिश्चित करवायेंगे। साथ ही इसका दैनिक प्रतिवेदन जिला प्रतिरक्षण कार्यालय को भी देना सुनिश्चित करेंगे।

हर घर दस्तक दे रहें स्वास्थ्य कर्मी:

टीकाकरण कार्यक्रम को आसान बनाया गया है ताकि कोई लाभार्थी वैक्सीन से वंचित नहीं रहे। अब स्वास्थ्यकर्मियों के द्वारा घर-घर जाकर टीका दिया जा रहा है। नियमित टीकाकरण दिवस (बुधवार एवं शुक्रवार) के दिन नियमित टीकाकरण के टीकों के साथ-साथ कोविड 19 का टीका एवं अन्य आवश्यक सामग्रियों यथा सिरिंज कॉटन आदि भी पर्याप्त मात्रा में सत्र स्थल पर भेजा जाय ताकि कोविड 19 के वंचित योग्य लाभार्थी को आवश्यकतानुसार आच्छादित किया जा सके तथा इससे संबंधित आकड़ों का संधारण अलग से किया जाय। उसी दिन कोविन पोर्टल पर प्रखंड स्तर से आकड़ों को संधारित कराया जाय।

महामारी से सुरक्षा के लिए दोनों डोज जरूरी:

सिविल सर्जन डॉ. जेपी सुकुमार ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग लगातार टीकाकरण के लिए प्रचार प्रसार कर रहा है। जिले वासियों की भी यह नैतिक जिम्मेदारी है कि अपने शहर के लोगों को कोरोना के प्रति जागरूक करें।,ताकि लोग दूसरे डोज़ का टीका लेकर महामारी से बचें। इसलिए युवाओं ,समाजसे वियों से अपील है कि वह अपने माता पिता व आसपास के लोगों को टीकाकरण केन्द्र पर ले जाकर टीकाकरण करवाएं । शहर में कोरोना दुबारा से न आए इससे बचाव के लिए कोविड टीकाकरण करवाना जरूरी है। क्योंकि दूसरा डोज़ लिए बिना पूर्ण रूपेण सुरक्षा सम्भव नहीं है। कोविड की दूसरी डोज़ के बाद ही शरीर में एंटीबॉडी का निर्माण होता है। तब शरीर कोरोना से लड़ने के लिए तैयार होता है। इसलिए कोविड का पहला डोज़ लेने के बाद सही समय पर दूसरा डोज़ भी जरूर लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *