राम चरित्र मानस पाठ सह संगोष्ठी का आयोजन

तेघड़ा (बेगूसराय) श्री राम चरित्र मानस आदि संगोष्ठी प्रचार संघ के द्वारा तेघरा प्रखंड के पकठौल चौक अवस्थित रामानुज प्रसाद यादव के सौजन्य से उनके आवास पर एक दिवसीय राम चरित्र मानस पाठ संगोष्ठी सह संकीर्तन का आयोजन किया गया जिस सत्संग में कई गांव के सत्संग प्रेमी शामिल हुए। राम चरित्र मानस के कथा वाचन करते हुए लड्डू लाल जी महाराज ने कहां की राम कथा तन मन को पवित्र कर जीवन शैली और आत्मा को नया स्वरूप देती है। राम चरित्र मानस यह अध्ययन मात्र से यह ज्ञात होता है कि प्रेम के बिना जीवन का कोई अर्थ नहीं होता। राम कथा का महत्व हमेशा से है और आगे भी रहेगा यह भगवान की लीला है उनके चरित्र व गुणों की गाथा है। महंथ रणजीत चौधरी ने प्रवचन करते हुए कहा कि रामचरित्र मानस गोष्ठी के आत्मसात से मनुष्य अपने आचरण में बदलाव लाकर दूसरों के आचरण को बदल सकता है भगवान राम का आचरण सर्वोपरि है। रामचरितमानस सत्संग गोष्ठी प्रचार संघ के संरक्षक रामविलास चौरसिया ने बताया कि प्रत्येक रविवार के दिन अलग-अलग स्थानों पर रामचरितमानस के कथा वाचन से समाज के अंदर सुख , शांति एवं समृद्धि के साथ ही भक्ति भाव का वातावरण निर्माण करना ही इस संस्था का मेन उद्देश्य है जिसके तहत गोष्ठी में दहिया, रसलपुर,औगान, बनहारा, पकठौल,किरतौल,नोनपुर,परबंदा आदि दर्जनों गांव लोग गोष्ठी में सत्संग प्रेमी शामिल होते हैं। मौके पर दामोदर चौरसिया, हरेराम चौरसिया, सुखदेव चौरसिया आदि मौजूद थे आये आगंतुकों का स्वागत पकठौल के उपेंद्र मेहता ने किया।

तेघरा से अशोक कुमार ठाकुर की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *