ESC

अपराधियों ने पुजारी का सिर काटकर मां काली को चढ़ाया

बेतिया में एक चौका देने वाला मामला सामने आया है. बेतिया में बदमाशों ने एक पुजारी का सिर काटकर काली मंदिर में चढ़ा दिया. पुलिस ने बताया कि पुजारी का नाम रुदल प्रसाद वर्णवाल है. वो गूंगा था. पुजारी करीब 40 वर्ष से मंदिर में रह रहा था. बताया जा रहा है कि अपराधियों ने पहले पुजारी का सिर काटा फिर उसे ले जाकर चनपटिया थाना क्षेत्र के पिपरा गांव स्थित काली मंदिर में चढ़ा दिया.

मंदिर की गेट पर सिर देख सहम गए भक्त

स्थानीय लोगों ने बताया कि सावन के महीने में भक्त मां की पूजा करने के लिए सुबह ही जाते हैं. बुधवार की सुबह जब भक्त पूजा के लिए पहुंचे तो मंदिर के गेट सिर देखकर सहम गए. सिर मिलने की बात जंगल की आग की तरह पूरे शहर में पैल गयी. देखते ही देखते दोनों मंदिर में लोगों की भीड़ लग गयी. बताया जा रहा है कि अपराधी मंदिर में छत के रास्ते घुंसे थे. पुलिस बता रही है कि मंदिर में एक अपराधी का चप्पल छूट गया है.

कुलहर रामजानकी मंदिर के परिसर में सोये थे पुजारी

ग्रामीण बता रहे हैं कि पुजारी करीब 40 वर्ष से बकुलहर रामजानकी मंदिर की देखरेख कर रहे थे. मंगलवार की रात वो परिसर में ही सोये थे. तभी अपराधियों ने उनकी हत्या कर दी. मामले में गोपालपुर और चनपटिया पुलिस पहुंच मामले की जांच में जुटी गई है. सुबह से ही दोनों मंदिरों में लोगों ने भीड़ लगी हुई है. हालांकि घटना का कारण अभी स्पष्ट नहीं हो सका है. डॉग एस्कॉर्ट की टीम भी बुलाई गई है।मामले की जांच की जा रही है। जल्द ही घटना को कृत करने वाले अपराधियों को पकड़ लिया जाएगा. एसडीपीओ सदर मुकुल परिमल पांडे बताया कि घटनास्थल पर चनपटिया और गोपालपुर पुलिस पहुंची हुई है। डॉग एस्कॉर्ट की टीम भी बुलाई गई है।मामले की जांच की जा रही है। जल्द ही घटना को कृत करने वाले अपराधियों को पकड़ लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ESC