ESC

नोएडा से पहले कोच्चि में भी ऐसे ही गिराई गई थी बिल्डिंग : ब्लास्ट वीडियो देखिए कैसे गिरता है टॉवर : Video

नोएडा के सेक्‍टर 93 ए में बने सुपरटेक ट्विन टावर्स को आज गिराया जा रहा है। बताया जा रहा है कि कुतुबमीनार से भी ऊंचे 103 मीटर के इस ट्वि‍न टावर्स को महज 9-12 सेकेंड में जमींदोज कर दिया जाएगा।

इसके पहले ऐसी तस्‍वीरें कोच्‍च‍ि से सामने आई थीं। जनवरी 2020 में केरल में मराडू नगरपालिका क्षेत्र में बहुमंजिला इमारत को इसी तरह ध्‍वस्‍त किया गया था।

ध्‍वस्‍तीकरण करने वाली अल्फा सेरीन नाम की कंपनी ने बहुमंजिला इमारत को चंद सेकेंड में गिरा दिया था। कोच्चि का अपार्टमेंट झील के किनारे बना था। इसका निर्माण भी अवैध ढंग से किया गया था।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर ही उस इमारत का भी ध्‍वस्‍तीकरण किया गया था। कोच्चि की यह इमारत 55 मीटर ऊंची थी। इमारत 3 सेकंड के अंदर जमींदोज हो गई थी। बताया जाता है कि कोच्चि की इस इमारत के निर्माण में तटीय नियमन क्षेत्र के प्रावधानों का उल्लंघन किया गया था।

सुप्रीम कोर्ट ने मराडू नगर पालिका क्षेत्र के पांच फ्लैट परिसरों को गिराने का आदेश दिया था। ये फ्लैट ऐसे क्षेत्र में बने थे जहां निर्माण गतिविधियों पर सख्त प्रतिबंध था। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बहुमंजिला इमारत को गिराने की प्रक्रिया शुरू हुई।11 जनवरी 2020 को तोड़फोड़ शुरू हुई थी। शुरुआत छोटे-छोटे विस्‍फोटों की श्रृंख्‍ला हुई और इमारत गिरा दी गई। ध्‍वस्‍तीकरण के दौरान ऐसे सुरक्षा उपाय बरते गए कि धमाके से किसी तरह का कोई नुकसान नहीं पहुंचा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ESC