ESC

दरभंगा में सड़क से अतिक्रमण हटाने गयी पुलिस पर हमला : एक पुलिसकर्मी की मौत, सीओ समेत कई घायल

Darbhanga : पटना उच्च न्यायालय के निर्देश पर दरभंगा जिले के नेहरा सहायक थाना क्षेत्र के रजवाड़ा टोल (तरौनी मोड़) के समीप सड़क से अतिक्रमण हटाने गये पुलिसकर्मी पर अतिक्रमणकारियों ने हमला कर दिया. इस हमले में एक पुलिसकर्मी की मौत हो गयी है, जबकि मनीगाछी के अंचलाधिकारी एवं दो पुलिसकर्मी घायल हो गये. पुलिस और प्रशासन की कई गाड़ियों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया है. गांव में भारी तनाव है. पुलिस उपद्रवियों को पकड़ने के लिए छापेमारी कर रही है. अब तक दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

उच्च न्यायालय में दायर किया था परिवाद

मनीगाछी अंचल के अंचलाधिकारी राजीव प्रकाश राय ने बताया कि तरौनी गांव निवासी संजीव कुमार झा ने सड़क को अतिक्रमण मुक्त कराने को लेकर पटना उच्च न्यायालय में परिवाद दायर किया था. पटना उच्च न्यायालय के सी डब्लू जे सी नंबर 16382/15 तथा एम जे सी नंबर 110/18 के आदेश के अवमानना के आलोक में पुन: 4 अगस्त को आये उच्च न्यायालय के आदेश पर सोमवार को मौजा राघोपुर टोले रजबाड़ा तरौनी मोड़ की सड़क के किनारे बसे लोगों से सड़क को अतिक्रमण मुक्त कराने गये प्रशासन को अतिक्रमण कारियों के विरोध का सामना करना पड़ा.

अतिक्रमणकारियों ने जमकर की रोड़ेबाजी

अतिक्रमण हटाने के लिए दंडाधिकारी के रूप में मनीगाछी के अंचल अधिकारी राजीव प्रकाश राय के अलावे एस डी पी ओ बेनीपुर डॉ कुमार सुमित, पुलिस निरीक्षक बहेड़ा, मनीगाछी थाना, नेहरा ओपी, बाजितपुर ओपी, सकतपुर थाना, अलीनगर थाना पुलिस पदाधिकारी सहित पुलिस फोर्स के अतिरिक्त दंगा निरोधक बल भी तैनात थे. अधिकारी ने बताया कि इस दौरान अतिक्रमणकारियों ने प्रशासनिक पदाधिकारियों एवं पुलिस बल के जवानों पर रोड़े बाजी की. इस रोड़े बाजी में वहां तैनात कर्मचारियों एवं पुलिस बल के जवान चोटिल हो गये. रोड़ेबाजी में तीन गाड़ियों के क्षतिग्रस्त होने के साथ ही राजीव प्रकाश राय, हल्का कर्मचारी सुधीर सिंह के साथ ही एक दंगा नियंत्रण वाहन गाड़ी के ड्राइवर चेत नारायण सिंह बुरी तरह घायल हो गये. घायल ड्राइवर को स्थानीय स्तर पर इलाज के बाद डीएमसीएच रेफर कर दिया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई है.

गांव में तनाव की स्थिति

वरीय पुलिस अधीक्षक अवकाश कुमार ने ड्राइवर चेत नारायण सिंह की मौत की पुष्टि करते हुए बताया कि अतिक्रमण पूर्ण रूप से खाली करा लिया गया है. पुलिस पर पथराव एवं सरकारी कार्य में व्यवधान करने वाले के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया की जा रही है. गांव में तनाव को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है. दरभंगा पुलिस मेन्स एसोसिएशन के अध्यक्ष राजू सिंह समेत कई लोग दरभंगा अस्पताल पहुंच जवान की मौत पर दु:ख जताया. साथ ही सभी तरह के सरकारी सुविधा दिलाने की मांग की है. मृतक जवान (गृह रक्षक ) चेत नारायण सिंह दरभंगा जिले के विरौल थाना में दंगा नियंत्रण वाहन पर चालाक के रूप में तैनात थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ESC