ESC

मोतिहारी : योग्य दंपति, उनके बच्चे एवं गर्भवती महिलाओं की अनमोल एप्प से होगी मॉनिटरिंग।।

  • छह बैच में दी गई ट्रेनिंग

मोतिहारी, 10 सितम्बर

अब सभी योग्य दंपति व उनके बच्चे एवं गर्भवती महिलाओं का अनमोल एप पर एएनएम रजिस्ट्रेशन करेंगी। इसी को लेकर सीएस डॉ अंजनी कुमार की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति के सभागार में स्वास्थ्य कर्मियों को अनुश्रवण पदाधिकारी भानु शर्मा ने ट्रेंनिग दी। इसी महीने से यह काम शुरू हो जाएगा। इसके तहत गर्भवती का टीकाकरण, नवजात का टीकाकरण से लेकर बन्ध्याकरण करने के इच्छुक योग्य दम्पति का भी ऑनलाइन रिपोर्ट अनमोल एप पर अपलोड होगा।

जिला स्वास्थय समिति में 14 सितंबर तक प्रखंड स्तरीय नामित मास्टर ट्रेनर व मास्टर ट्रेनर के रूप में नामित एएनएम को प्रशिक्षण दिया जाएगा। जिला अनुश्रवण एवं मूल्यांकन पदाधिकारी, पीरामल के द्वारा संयुक्त रूप से प्रशिक्षण दिया जा रहा है। बताते हैं कि जिले में अब अनमोल एप व आरसीएच वेब पोर्टल के माध्यम से गर्भवती महिलाओं, धातृ माताओं, नवजात शिशुओं और बच्चों के स्वास्थ्य की मॉनेटरिंग की जाएगी। सरकार के सुरक्षित संस्थागत प्रसव व सुरक्षित मातृत्व कार्यक्रम के तहत अनमोल एप और आरसीएच वेब पोर्टल का निर्माण किया गया है।

छह बैच में दी जा रही ट्रेनिंग-

जिला स्वास्थ्य समिति 6 बैच बनाकर प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न आंगनबाड़ी केंद्रों पर काम करने वाली मास्टर ट्रेनर के रूप में नामित एएनएम को ट्रेनिंग दे रही है। जिला अनुश्रवण एवं मूल्यांकन पदाधिकारी भानु शर्मा ने बताया कि मातृ और शिशु स्वास्थ्य टीकाकरण कार्यक्रम से जुड़ी सेवाओं को ऑनलाइन उपलब्ध कराने के उद्देश्य से सभी आंगनबाड़ी केंद्र पर काम करने वाली एएनएम, प्रखंड स्तर पर नामित चिकित्सा पदाधिकारी, बीएचम, बीसीएम, प्रखंड मूल्यांकन एवं अनुश्रवण पदाधिकारी को अनमोल एप्प व आरसीएच वेब पोर्टल के तकनीकी पहलुओं की ट्रेनिंग दी गई। श्री शर्मा ने बताया कि अनमोल एप पर गर्भवती महिलाओं के पंजीयन, एएनसी जांच का विवरण, प्रसव के परिणाम, सीएचसी प्रसवोत्तर देखरेख, शिशु की देखभाल, मातृ मृत्यु सूची, शिशु जन्म का सीधा पंजीकरण के साथ ही शिशु स्वास्थ्य की भी ट्रैकिंग हो सकेगी।

सिविल सर्जन ने दिए आवश्यक निर्देश-

सिविल सर्जन डॉ. अंजनी कुमार ने बताया कि आरसीएच पोर्टल एवं अनमोल एप पर योग्य दंपत्ति, गर्भवती माता व नवजात शिशु के पंजीकरण के लिए आवश्यक निर्देश दिया गया है। इसमें प्रखंड स्तर से स्वास्थ्य उपकेंद्र की जितने भी गर्भवती माता, नवजात शिशु आते हैं या चिन्हित होते हैं, उनको शीघ्र आरसीएच पोर्टल पर इंट्री करने का निर्देश दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ESC