ESC

मोतिहारी : डेंगू, चिकुनगुनिया, कालाजार के नियंत्रण हेतु समाहरणालय में डीएम ने की बैठक

-सीएस, वेक्टर पदाधिकारी व प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को दिए कई निर्देश
-सभी पीएचसी में डेंगू वार्ड बनाने, जाँच व दवाए उपलब्ध कराने का डीएम ने दिए निर्देश

  • बुखार होने पर डेंगू टेस्ट कराने का लोगों को दें सुझाव

मोतिहारी, 15 सितंबर

जिला समाहरणालय स्थित राधा कृष्ण भवन में जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक की अध्यक्षता में गुरुवार को राष्ट्रीय वेक्टर जनित रोग नियंत्रण के अंतर्गत डेंगू, चिकुनगुनिया,कालाजार से संबंधित जिला टास्क फोर्स की बैठक आयोजित की गई।

डीएम ने पदाधिकारियों को दिए कई निर्देश-

बैठक में जिलाधिकारी ने सीएस, वेक्टर पदाधिकारी व प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को वेक्टर रोगों से बचाव को कई महत्वपूर्ण निर्देश दिए। उन्होंने सभी पीएचसी में डेंगू वार्ड बनाने, डेंगू व अन्य वेक्टर रोगों की जाँच व दवाएँ उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। उन्होंने निर्देश दिया कि जिले में जितने भी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अंतर्गत निजी स्वास्थ्य संस्थान हैं, उनमें जो भी डेंगू संदिग्ध मरीज आते हैं, उनकी सूचना डीभिडीसीओ कार्यालय को अविलंब उपलब्ध कराएं। डीएम ने बताया कि लोगों को जागरूक करें कि बुखार होने पर डेंगू टेस्ट कराएँ। उन्होंने बताया कि मानसून के आखिरी दिनों में डेंगू का खतरा बढ़ने लगता है। जमे हुए पानी में डेंगू के मच्छर पनपते हैं, ये मच्छर दिन के समय काटते हैं इससे बचाव जरूरी है। डेंगू एडीज मच्छर के काटने से होता है। डेंगू के शिकार लोगों को तेज बुखार आता है, गंभीर स्थिति में डेंगू जानलेवा हो जाता है। इसलिए डेंगू के प्रभाव से शहर वासियों को बचाने के लिए सुरक्षा के तमाम इंतजाम किए जाएँ।

वेक्टर रोगों के बारे में जागरूकता जरूरी-

जिले के सिविल सर्जन डॉ अंजनी कुमार ने व जिला वेक्टर रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ शरत चन्द्र शर्मा ने बताया कि डेंगू, चिकुनगुनिया, कालाजार जैसे रोग से बचाव के लिए जागरूकता बहुत जरूरी है, जागरूकता व साफ सफ़ाई कीटनाशकों के छिड़काव से इसके मामलों में कमी आएगी। लोग ड़ेंगू मच्छर ड़ के काटने से बचेंगें, वही लक्षण दिखाई देने पर इलाज कराकर सुरक्षित रह सकेंगे।

सरकारी स्तर पर इलाज की पूरी व्यवस्था है उपलब्ध-

सीएस डॉ अंजनी कुमार ने बताया कि ड़ेंगू के इलाज की व्यवस्था है, अस्पतालों में डेंगू वार्ड अविलंब खोलने हेतु निर्देश दिए जा रहे हैं। बैठक में सीएस डॉ अंजनी कुमार, एसीएमओ डॉ रंजीत राय, जिला वेक्टर रोग नियंत्रण पदाधिकारी डॉ शरत चन्द्र शर्मा, सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी व अन्य स्वास्थ्य कर्मी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ESC