ESC

बिहारशरीफ : जिला हिंदी साहित्य सम्मेलन नालंदा के द्वारा हिंदी दिवस पर “हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा” विषय पर परिचर्चा

बिहारशरीफ : जिला हिंदी साहित्य सम्मेलन, नालंदा के तत्वावधान में हिंदी दिवस के अवसर पर मां मालती देवी स्मृति सम्मान समारोह का आयोजन किड्ज केयर कान्वेंट के प्रांगण में देर शाम तक किया गया। इस कार्यक्रम की शुरुआत नवनीत कृष्ण द्वारा सरस्वती वंदना से की गई। इस अवसर पर “हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा” विषय पर चर्चा की गई । जिसमें कवि, साहित्यकार के अलावे सरकारी एवं निजी विद्यालय के छात्र छात्राओं ने भी भाग लिया। इस मौके पर स्कूली छात्र छात्राओं द्वारा हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा विषय पर परिचर्चा की गई। साथ ही बच्चों के मुख से यह सुनने को मिला कि हिंदी हमारी मातृभाषा तो है ही, इसे सरकार जल्द से जल्द राष्ट्रभाषा का दर्जा प्रदान करें । आज के दौर में बहुत सारी ऐसे जगह है जहां हिंदी में बात करना मुश्किल साबित हो जाता है। खास करके कुछ अन्य राज्यों में जब बच्चे अपनी उच्च शिक्षा के लिए जाते हैं । वहां उन्हें हिंदीभाषी कह कर पुकारा जाता है । यह बड़े ही दुख की बात है । बच्चों ने यह भी कहा कि अगर हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा बन जाती है तो हम गर्व से किसी भी राज्य में दावे के साथ हिंदी बोलकर अपने आप को गौरवान्वित महसूस कर सकते हैं।
इस विषयक जिला हिंदी साहित्य सम्मेलन नालंदा के अध्यक्ष विनय कुमार ने कहा कि हिंदी भाषा हमारी पहचान है और कभी भी इसे हम लोग धूमिल नहीं होने देंगे । हां यह अलग बात है कि आज के दौर में अंग्रेजी बोलचाल की भाषा का प्रचलन बढ़ता जा रहा है। लेकिन सरकार के द्वारा नए शिक्षा नीति में भी वर्ग पंचम तक हिंदी में ही पढ़ाई करने का उल्लेख किया गया है । उन्होंने बच्चों को समझाते हुए यह कहा कि आज हमारे प्रधानमंत्री किसी दूसरे देश में बैठक में या सम्मेलन में जाते हैं तो वह हिंदी में ही अपना भाषण देते हैं । इससे हम लोगों की आशा जागृत हो जाती है कि जल्द ही हमारी मातृभाषा हिंदी राष्ट्रभाषा बन जाएगी।
परिचर्चा के उपरांत, परिचर्चा में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले किड्ज केयर कान्वेंट के षष्ठम वर्ग की छात्रा उन्नति राज, मध्य विद्यालय मननकी के अष्टम वर्ग की छात्रा काजल कुमारी, आकाश विद्यापीठ के षष्ठम वर्ग का छात्र राणा अभिज्ञान एवं अष्टम वर्ग का छात्र कृष्णा राज, वेदांता इंटरनेशनल एकेडमी के सप्तम वर्ग का छात्र ऑनिक राज, ज्ञानदीप स्कूल के पंचम वर्ग की छात्रा वर्षा कुमारी एवं उत्क्रमित मध्य विद्यालय इमामगंज के वर्ग दशम का छात्र नील कमल कुमार को नालंदा जिला हिंदी साहित्य सम्मेलन के द्वारा मां मालती देवी स्मृति सम्मान समारोह में प्रतीक चिन्ह व प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया।
दूसरे सत्र में साहित्यकारों एवं साहित्य अनुरागियो के द्वारा हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा विषय पर परिचर्चा की गई। जिसमें सभी कवियों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया।
आनंद वर्धन ने कविता के माध्यम से हिंदी विषय पर प्रकाश डाला। नवनीत कृष्ण ने अपने गजल के माध्यम से हिंदी दिवस को समझाने का प्रयास किया। राकेश भारती ने हिंदी दिवस पर गीत गाकर सभा को संगीतमय बना दिया।
इसके बाद उपस्थित सभी कवियों ने अपने अपने विचार रखें। गौरैया संरक्षक राजीव पांडे ने भी अपने अभिभाषण में हिंदी दिवस की महत्ता पर बल दिया । मंच संचालन मगही कवि उमेश प्रसाद उमेश के द्वारा किया गया। अंत में अध्यक्ष विनय कुमार के द्वारा धन्यवाद ज्ञापन देते हुए सभा का समापन किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ESC