ESC

राजगीर : शहीद चितरंजन का पार्थिव शरीर पहुंचा राजगीर : पत्नी ने दिया कंधा

राजगीर : नक्सलियों से मुठभेड़ के दौरान नालंदा का एक लाल शहीद हो गया। जिनका पार्थिव शरीर गुरुवार को हेलीकॉप्टर से राजगीर लाया गया। शहीद राजगीर प्रखंड क्षेत्र के चकपर गांव निवासी शिव कुमार सिंह के (34) वर्षीय पुत्र चितरंजन कुमार है। दरअसल झारखंड के चतरा जिला स्तिथ प्रतापपुर में बूढ़ा पहाड़ी पर नक्सलियों से मुठभेड़ के दौरान 19 सितंबर को 1 गोली पेट मे एवं 2 गोली जांघ में लगने से घायल हो गए थे। जिन्हें इलाज के लिए मेडिको अस्पताल रांची में भर्ती कराया गया था। जहां देर रात इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। चितरंजन कुमार सीआरपीएफ 190 बटालियन में हेडकांस्टेबल के पद पर तैनात थे। यह उनकी तीसरी पोस्टिंग थी, इसके पहले लुधियाना एवं छत्तीसगढ़ में तैनात थे। शहीद का पार्थिव शरीर जैसे ही हेलीकॉप्टर से राजगीर पहुंचा, सभी की आंखें नम हो गई औऱ शहीद जवान अमर रहे के नारे बुलंद होने लगे। पार्थिव शरीर को शहीद की पत्नी जूही कुमारी ने भारी मन से कांधा दिया। उनकी आंखों में आंसू रुकने का नाम नहीं ले रहा है। वहीं शहीद जवान के बच्चें काव्य और जुही इस माहौल से अंजान हो गुम शुम बैठें रहें। एक महीने पहले ही शहीद जवान चितरंजन कुमार अपनी दूसरी पोस्टिंग छत्तीसगढ़ में समाप्त कर वापस झारखंड गए थे। जहां नक्सलियों से मुठभेड़ के दौरान शहीद हो गए। शहीद जवान का अंतिम संस्कार राजगीर में किया जाएगा। इसके पूर्व उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर की सलामी दी गई। इस मौके पर सीआरपीएफ के वरीय अधिकारी सहित नालंदा के सांसद कौशलेंद्र कुमार,राजगीर विधायक कौशल कुमार एवं जिला पुलिस प्रशासन मौजूद रहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ESC