ESC

मुजफ्फरपुर : सामुदायिक स्वास्थ्य क्रेंद, साहेबगंज में गुणवत्ता यकीन समिति की हुई बैठक

  • नर्सों को दी गई संस्थागत प्रसव से संबंधित जानकारियां 
  • स्वास्थ्यकर्मियों को दी गई बायो मेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट की जानकारी
    -सरकारी अस्पतालों में प्रसव बढ़ाने के लिए फैलाई जा रही है जागरूकता

मुजफ्फरपुर। 23 सितंबर

सामुदायिक स्वास्थ्य क्रेंद, साहेबगंज के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ जे के गौतम की अध्यक्षता में प्रखंड गुणवत्ता यकीन समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में सुरक्षित प्रसव की संख्या में वृद्धि हो, इसके लिए प्रसव विभाग से संबंधित डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ एवं इमरजेंसी के सभी स्वास्थ्यकर्मियों को केयर इंडिया के केयर हेल्थ न्यूट्रिशन ऑफिसर सतीश कुमार द्वारा बायो मेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट की जानकारी दी गयी। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी द्वारा प्रसव से संबंधित दवा एवं मेडिकल उपकरण की कमियों, ड्यूटी रोस्टर डिस्प्ले, केस शीट की आपूर्ति, ट्राइज रूम का संचालन, जाँच किट व्यवस्था एवम प्रसव वार्ड से सम्बंधित सभी कमी को एक सप्ताह के अंदर पूरा करने का निर्देश प्रखंड प्रबंधक को दिया गया।

गंभीर बच्चों के इलाज की जानकारी-

कमजोर व सांस लेने में दिक्कत होने वाले बच्चे को स्थानीय अस्पताल में इलाज किया जा सके, इसपर विचार विमर्श किया गया। चिकित्सा पदाधिकारी ने बताया कि गंभीर बच्चों के इलाज से सम्बंधित सभी प्रकार के उपकरणों के साथ डॉक्टर भी अस्पताल में उपलब्ध हैं।

आवश्यक दवाओँ के क्रय का निर्देश-

प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने अस्पताल में हर प्रकार की दवाइयाँ उपलब्ध रखने को कहा। कमी के मामलों में आवश्यक दवाएं हर हाल में खरीद कर रखने का भी निर्देश दिया गया। गर्भवती महिलाओं का  डॉक्टर व नर्सिंग स्टाफ द्वारा बीपी, हीमोग्लोबिन, सुगर, वजन  आदि की जाँच, टीकाकरण, दवा की वितरण की व्यवस्था होनी चाहिए।

अस्पताल परिसर में सफाई का निर्देश-

प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने अस्पताल की सफाई पर विशेष जोर दिया। उन्होंने निर्देश दिया कि अस्पताल परिसर, ओटी, सहित अन्य स्थानों में कहीं भी गंदगी नहीं होनी चाहिए। अस्पताल में प्रसव के लिए आई सभी महिलाओं का प्रसव से संबंधित खतरों के लक्षणों की जांच , परामर्श व विशेष निगरानी सुनिश्चित होनी चाहिए। कोरोना काल में अस्पताल परिसर में प्रसव की संख्या कम रही है, इसके लिए आशा के साथ बैठक कर वे ग्रामीणों को जागरूक करें। ताकि अस्पतालों में सुरक्षित प्रसव के लिए लोग आएं।

प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने कहा कि संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देने व मातृ मृत्यु और शिशु मृत्यु दर में कमी लाने के उद्देश्य से प्रसव पूर्व जांच के साथ जटिलता की पहचान होने से  समय रहते उसका अच्छे से देखभाल किया जा सके। इस मौके पर प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी जे के गौतम, प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक आशीष कुमार झा, केयर इंडिया के हेल्थ एंड न्यूट्रिशन ऑफिसर सतीश कुमार सिंह, प्रखंड लेखापाल मनीश कुमार, किरण कुमारी, सुनीता एक्का, सलरा कुमारी आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ESC