gold

प्रभु ने बबलू को दिया आयुष्मान का ज्ञान, मिल गया जीवनदान

  • पांच साल से दोनों किडनी में पथरी से था परेशान
  • लगभग 70 हजार का हुआ मुफ्त उपचार
     
    वैशाली। 28 नवंबर 
    महती धरमचंद गांव के जयराम पासवान को ऐसा लग रहा था जैसे कुदरत उसके साथ अन्याय कर रही है। एक ही तो लड़का है वह भी 18 वर्ष का और उसके दोनों किडनी में पथरी। एक दिहाड़ी कहां से इलाज कराए। सब कुछ जानते हुए भी जयराम अपने बेटे को दर्द से चीखता चिल्लाता देखता था। जमा पूंजी थी नहीं, कर्ज वह ले नहीं सकता। तभी उसकी मुलाकात प्रभु नाम के एक एम्बुलेंस ड्राइवर से हुई। वह उसी के गांव का था। उसके सलाह पर ही जयराम ने गांव के वसुधा केंद्र से आयुष्मान कार्ड बनाया। और हाजीपुर में आयुष्मान कार्ड के लिए रजिस्टर्ड अस्पताल आदर्श हॉस्पिटल आया। जहां बबलू के दोनों किडनी से पथरी को निकाल दिया गया। सोमवार को उसे अस्पताल से छुट्टी भी मिल गयी। बबलू और जयराम ने जो कष्ट झेला वह अलग कहानी है, पर प्रभु के ज्ञान और आयुष्मान से बबलू को जीवनदान मिल चुका है।
      
    दो बार अलग अलग हुआ ऑपरेशन:

आयुष्मान भारत की नोडल बिमला कुमारी ने बताया कि बबलू जिसे दोनो किडनी में पथरी की शिकायत थी उसके एक किडनी में छोटी और दूसरे बड़ी पथरी थी। वसुधा केंद्र से आयुष्मान कार्ड बनाने पर सिर्फ आठ दिनों में आयुष्मान कार्ड आ गया। इसके बाद जिस किडनी में छोटी पथरी थी उसका इलाज लेप्रोस्कोपिक विधि और दूसरे को चीरा लगाकर इलाज किया गया। उसके इलाज में कुल 70 हजार के आसपास का खर्च आया। सभी पैसे आयुष्मान से उसे मिले। अब वह पूरी तरह स्वस्थ है। अभी भी उसके कार्ड में पैसे बचे हुए हैं जिसे जरूरत पड़ने पर वह खर्च कर सकता है।
 
आयुष्मान के तहत जिले में आठ अस्पताल है रजिस्ट्रर्ड:

जिला आयुष्मान समन्वयक बिमला कुमारी ने बताया कि आयुष्मान भारत योजना के माध्यम से केंद्र सरकार गरीब उपेक्षित परिवार और शहरी गरीब लोगों के परिवारों को स्वास्थ्य लाभ उपलब्ध कराना चाहती है। आयुष्मान भारत योजना को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना भी कहा जाता है। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत पात्र लाभार्थियों के परिवारों को सालाना पांच लाचा रुपए का मुफ्त इलाज किया जाता हैं। आयुष्मान भारत के तहत सभी सरकारी अस्पताल एवं निजी अस्पतालों में न्यू बीके हॉस्पिटल हाजीपुर, रेमीडी हॉस्पिटल हाजीपुर, एएसजी हॉस्पिटल हाजीपुर, आदर्श हॉस्पिटल हाजीपुर, आशीर्वाद हॉस्पिटल गोरौल, सिटी हॉस्पिटल पातेपुर, कृष्णा हॉस्पिटल महुआ, सुमित्रा सेवा संस्थान जंदाहा शामिल हैं। जहां आयुष्मान भारत योजना के तहत पांच लाख की राशि तक मुफ्त उपचार संभव है।

Leave a Reply

Vishwa
  1. You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: