एसपी अवकाश कुमार ने शुक्रवार को ड्रग्स कारोबार के बड़े गिरोह का खुलासा किया गया है।

बेगुसराय: एसपी अवकाश कुमार ने कहा कि जिले में शुक्रवार को ड्रग्स कारोबार के बड़े गिरोह का खुलासा किया गया है।
एसपी को मिली गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने तीन कारोबारी को बड़ी मात्रा में स्मैक, 28 लाख से अधिक नगद, पुलिस की वर्दी, पिस्तौल एवं मैगजीन के साथ गिरफ्तार किया है।

एसपी ने बताया कि शुक्रवार को सूचना मिली कि साहेबपुर कमाल थाना क्षेत्र के शालिग्रामी गांव में कामेश्वर प्रसाद यादव के पुत्र सोनू कुमार के घर पर ड्रग्स का बड़ा कारोबार किया जा रहा है तथा बड़ी मात्रा में ड्रग्स के साथ कारोबारी जुटे हुए हैं। सूचना मिलते ही बलिया डीएसपी कुमार वीर धीरेंद्र के नेतृत्व में थाना की पुलिस एवं जिला एएलटीएफ की टीम ने सोनू के घर पर छापा मार दिया।

छापेमारी के दौरान सोनू के घर से तीन किलो 670 ग्राम स्मैक, 28 लाख 72 हजार दो सौ रुपया, पुलिस की तीन वर्दी, एक देसी पिस्तौल, एक गोली, पिस्टल का एक मैगजीन, पैसा गिनने का एक मशीन, एक चार पहिया वाहन, एक मोटरसाइकिल एवं 14 मोबाइल बरामद किया गया है। मौके पर से मुंगेर जिला के शामपुर थाना क्षेत्र के बुधरनी निवासी शालिग्राम प्रसाद यादव के पुत्र नीतीश कुमार एवं निखिल कुमार को गिरफ्तार किया गया है। एसपी ने बताया कि हाल के वर्षों में एनडीपीएस एक्ट के तहत ऐसी बड़ी उपलब्धि नहीं मिली थी।

जांच के दौरान ड्रग्स में मॉरफिन एवं कोकिन पाया गया है। पूछताछ के दौरान स्मगलरों ने कई खुलासे किए हैं, इस आधार पर छानबीन की जा रही है। यह ड्रग्स कारोबारी खगड़िया समेत आसपास के अन्य जिलों में भी सप्लाई करते थे, जिसका पता लगाया जा रहा है। इसके साथ ही गिरोह का पर्दाफाश करने के लिए जांच पड़ताल चल रही है। पुलिस की वर्दी मिलने से प्रशासन भी अचंभित है तथा इसकी भी विशेष जांच पड़ताल की जा रही है। एसपी ने बताया कि सोनू कुमार ने ड्रग्स के कारोबार से अच्छी खासी संपत्ति हासिल की है, चार चक्का वाहन के साथ बड़ा घर भी बनाया है, संपत्ति जब्त करने की कार्रवाई भी किया जाएगा।

एसपी ने आशंका जताई है कि इस ड्रग्स कारोबारी गिरोह का तार अंतरराज्यीय एवं अंतरराष्ट्रीय तस्करों से जुड़ा हो सकता है, इसकी भी छानबीन की जा रही है।

पिंकल कुमार की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *