Nalanda : भारतीय डाक विभाग नालंदा मंडल के द्वारा 75 लाख पोस्टकार्ड कैंपेन के तहत डीएवी पब्लिक स्कूल पावरग्रिड में बच्चों ने लिया भाग।

Nalanda : नालंदा मंडल भारतीय डाक विभाग द्वारा आज डीएवी पब्लिक स्कूल पावर ग्रिड में कक्षा 4 से लेकर 12 तक के बच्चों के द्वारा माननीय प्रधानमंत्री को पोस्ट कार्ड के माध्यम से पत्राचार किया गया जिसमें बच्चों द्वारा गुमनाम स्वतंत्रता सेनानियों के प्रति अपनी इच्छा एवं 2047 में हमारा भारत देश कैसा हो इस पर पत्र लिखा गया । इस कैंपेन को लेकर बच्चों में काफी उत्साह देखा गया। बच्चों ने पोस्टकार्ड प्राप्त कर अपने अपने विचारों को माननीय प्रधानमंत्री के साथ साझा किया।

आजादी के अमृत महोत्सव को लेकर यह कैंपेन 20 दिसंबर तक चलाया जाएगा जिसमें 75 लाख पोस्टकार्ड पूरे देश से माननीय प्रधानमंत्री कार्यालय को प्राप्त होगा एवं बच्चों के द्वारा लिखी गई विचारों को वे माननीय प्रधानमंत्री के साथ साझा कर पाएंगे एवं आने वाले दिनों में हमारा भारत देश कैसा हो , अपने विचार रख पाएंगे।

कार्यक्रम को सफल बनाने में प्राधानाचार्य श्री पी.सी दास तथा गणित के सीनीयर शिक्षक श्री शैलेन्द्र कुमार पंडित के नेतृत्व में विद्यालय के सभी शिक्षक शिक्षिकाओं ने अपना महत्वपूर्ण तथा प्रशंसनीय योगदान दिया

इस अवसर पर डाक अधीक्षक नालंदा श्री उदयभान सिंह तथा डाक निरीक्षक नालंदा श्री राम जी राय भी उपस्थित हुए। विद्यालय प्रबंधन ने इस कार्य के लिए डाक विभाग नालंदा को धन्यवाद दिया।
आजादी के अमृत महोत्सव को लेकर यह कार्यक्रम जिले के सभी विद्यालयों में चलाया जा रहा है एवं विद्यालय प्रबंधन के मांग पर विद्यालयों को पोस्टकार्ड उपलब्ध कराए जा रहे हैं ताकि अधिक से अधिक बच्चे इस कार्यक्रम में भाग ले सकें।
प्रधानमंत्री को पोस्टकार्ड भेजने के लिए छात्र-छात्राओं को दो विषय दिए गए हैं। स्वतंत्रता संग्राम के गुमनाम नायक एवं 2047 में भारत के लिए मेरा दृष्टिकोण विषयक पत्र लेखन में नालंदा मंडल के अधीन सभी विद्यालयों की भागीदारी होगी। विद्यालयों को पोस्टकार्ड उपलब्ध कराने एवं विद्यालय के साथ समन्वय स्थापित करने के लिए मण्डल स्तर पर एक नोडल अधिकारी को नियुक्त किया गया है।स्कूली शिक्षा और साक्षारता विभाग, शिक्षा मंत्रालय एवं डाक विभाग के संयुक्त समन्वय से आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में यह कैम्पेन चलाया जा रहा है ताकि आने वाली पीढ़ी को आजादी के गुमनाम नायकों के बारे में जानने का मौका मिल सके। साथ ही साथ बच्चे जो इस देश के भविष्य हैं वह भारत के उत्थान के लिए, भारत के विकास के लिए अपनी सोच को रख सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *