क्रिप्टो करेंसी का नाम बदल कर क्रिप्टो एसेट का नाम दे सकती है सरकार, इस हफ्ते ले सकती है बड़ा फैसला।

New Delhi : अभी हाल ही में क्रिप्टो करेंसी के बैन होने की खबर सामने आई थी जिसके बाद बिटकॉइन समेत सभी प्रमुख क्रिप्टो करेंसी की कीमत बहुत ही तेज़ी से नीचे गिर गई थी। लोग क्रिप्टो करेंसी के बैन होने के डर से उसे जल्दी जल्दी बेचना शुरू कर दिए जिसके बाद उसकी कीमत में भारी गिरावट देखने को मिला है। बिटकॉइन, इथेरियम, शीबा इनू जैसे करेंसी जिसपे लोगो ने बहुत बड़ी मात्रा में निवेश किया है उसमे अब तक 15 प्रतिसत तक की भारी गिरावट दर्ज की जा चुकी है। लेकिन अब सरकार इस पर प्रतिबंध ना लगाने के बजाए इसके नाम और उपयोग को बदलने के ऊपर विचार करेगी। इसका मतलब यह है कि यह किसी मुद्रा के रूप में ट्रांजेक्शन के रूप में काम नहीं आएगी, बल्कि इसे एक एसेट माना जाएगा, जिसमें आप पैसा निवेश कर सकते हैं। केंद्रीय कैबिनेट इसी हफ्ते क्रिप्टो को लेकर नए कानून पर चर्चा कर सकती है। राज्य सभा में एक सवाल का जवाब देते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि कैबिनेट की मंजूरी के बाद क्रिप्टो करेंसी संबंधित नया बिल दिसंबर माह के आखिरी सप्ताह तक पेश किया जाएगा। यह एक जोखिम भरा क्षेत्र है जो पूर्ण नियामक ढांचे में नहीं है। इसलिये इस पर रोक लगाने का कोई फैसला नहीं लिया गया, बल्कि आरबीआई और सेबी के माध्यम से जनजागरूकता पैदा करने के लिए कतिपय कदम उठाए जा रहे हैं। एक आंकड़े के मुताबिक क्रिप्टो करेंसी में निवेश करने के मामले में भारत दुनिया का नं०- 1 देश है।

रिपोर्ट : संस्कृति सिंह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *