11वे चरण में अधिकांश युवा एवं समाजिक कार्य के प्रति समर्पित को जनता ने मौका दिया

तेघरा (बेगूसराय) तेघरा प्रखंड के 11वे अंतिम वचरण कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में काफी बदलाव देखने को मिला जनता ने शिक्षित व सामाजिक कार्य के प्रति समर्पित युवाओं को गांव की सरकार में हिस्सा बनाया। समाज के प्रति सेवा और समर्पण की भावना से निरंतर काम करने वालों की कभी हार नहीं होती यह नजारा उत्तर तेघरा के चिल्हाय पंचायत से पंचायत समिति सदस्य के रूप में नवनिर्वाचित हुए संजीव कुमार ने साबित कर दिखाया। इन्होंने 2018 से ही एक्सिस बैंक की नौकरी छोड़ समाज के कल्याण के प्रति अपने आप को समर्पित कर दिया। वर्ष 2019 से अखंड ज्योति अस्पताल दलसिंहसराय की सदस्यता ग्रहण कर तेघड़ा प्रखंड के दर्जनों स्थलों पर नेत्र जांच शिविर के माध्यम से समाज में आर्थिक रूप से पिछड़े लाभुकों को निशुल्क नेत्र जांच व दवा की व्यवस्था करवाने के साथ ही नेत्र रोगियों को निशुल्क ऑपरेशन, भोजन एवं चश्मा की व्यवस्था करवाया और आगे भी यह प्रक्रिया जारी है। इतना ही नहीं सूर्यकला राम जी फाउंडेशन जैसे जमीनी संगठन से जुड़कर 70 से 80 लोगों को ब्लड डोनेट करवाने में इनकी बड़ी भूमिका रही है यहां तक की 11 से अधिक लोगों को ब्लड उपलब्ध करवा कर उनकी जानें बचाई। ये खुद 5 बार अपना ब्लड डोनेट कर चुके हैं। 2021 में इनकी पत्नी रजनी कुमारी ने रामपुर मध्य विद्यालय शिक्षा समिति की सचिव पद पर जीत हासिल की। इस बार की प्रथम त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में पंचायत की जनता ने अपार बहुमत से चुनाव जीता कर पंचायत समिति की बागडोर जिनके हाथों सौंपी। संजीव कुमार ने बताया कि यह जीत पूरे पंचायत की जनता की जीत है । मैं जनता के लिए हर हमेशा समर्पित भाव से एक सेवक के रूप में कार्य करते रहेंगे।क्षेत्र के विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा की ओर आगे बढ़ाने में हर स्तर पर मेरा सहयोग रहता है आगे भी रहेगा। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में आनाथ आश्रम की स्थापना की तैयारी चल रही है। अपने पंचायत को स्वस्थ, शिक्षित, सुंदर और व्यवस्थित तथा विकासशील बनाने में मेरा हर स्तर पर व्यापक पहल रहेगा। उन्होंने बताया कि मेरा लक्ष्य है सत्ता का विकेंद्रीकरण एवं अबसर वादियों को राजनीति से दूर करना। और राजनीति में धन बल और अपराध बल के प्रवृत्ति वाले लोगों के विरुद्ध सांगठनिक लड़ाई तेज करने का ताकि समाज के समर्पित लोग की वापसी पुण: राजनीति में हो सके।

अशोक कुमार ठाकुर की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *