एक छटाक अरवा चावल नालंदा जिला मे नहीं लिया जाएगा:- जिलाधिकारी नालंदा

Nalanda : आज दैनिक जागरण समूह के द्वारा छपे खबर “इस बार राज्य खाद्य निगम को दे सकते अरवा चावल पर संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी नालंदा ने मनगढ़ंत खबर पर संज्ञान लेते हुए क्षोभ व्यक्त करते हुए गहरी आपत्ति व्यक्ति की है |

जिलाधिकारी नालंदा ने कहा है कि खरीफ विपणन वर्ष 2021 -22 में सिर्फ उसना चावल लिए जाने का आदेश माननीय मुख्यमंत्री ,बिहार सरकार के द्वारा दिया गया है| नालंदा जिला मे उसना मिलरों की क्षमता 78 मेट्रिक प्रति घंटा है जो नालंदा जिला के आवश्यकता से अधिक है |अतः अरवा मिलों को धान कुटाई हेतु आदेश दिया जाना राज्य सरकार के नीति के विरुद्ध होगा | तथ्यों को बगैर जाने समझे इस तरह का गैर जिम्मेदाराना समाचार छापे जाने से आम जनता में गलत संवाद फैलाने की मंशा से किया गया इस तरह का कृत भर्त्सना योग्य है| नालंदा जिला में राज्य में सबसे अधिक उसना चावल 4060.00 मैट्रिक टन लिया जा चुका है|वर्णित परिस्थितियों में यह फिर से स्पष्ट किया जाता है कि नालंदा जिला में किसी प्रकार के अरवा चावल मिल से चावल नहीं लिए जाने का निर्णय नही लिया गया है तथा इसमें किसी प्रकार के परिवर्तन की गुंजाइश नहीं है|
जिलाधिकारी नालंदा ने यह स्पष्ट किया है कि एक छटाक अरवा चावल नालंदा जिला में नहीं लिया जाएगा|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *