प्रधानाध्यापक एवं शिक्षिका के बीच हाथापाई में शिक्षिका घायल।

तेघरा (बेगूसराय) तेघरा प्रखंड अंतर्गत उत्क्रमित उच्च विद्यालय गौरा 2 में गुरुवार को प्रधानाध्यापक देवेंद्र प्रसाद राय एवं विद्यालय की शिक्षिका कुमारी रेखा सिन्हा के बीच रजिस्टर पर उपस्थिति दर्ज करने को लेकर रजिस्टर की छीना झपटी में नौबत हाथापाई तक आ गई। जिससे शिक्षिका के हाथ में बल्ला घस जाने की वजह से शिक्षिका आंशिक रूप से घायल हो गई। घटना की सूचना मिलते ही सैकड़ों की संख्या में आक्रोशित ग्रामीणों ने प्रधानाध्यापक को विद्यालय के एक कमरे में ताला जड़कर बंदी बनाकर जिला शिक्षा पदाधिकारी को बुलाने की मांग को लेकर अरे रहे। जिसकी सूचना ग्रामीणों ने तेघरा के प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं तेघरा थाना को दिया। मौके पर तेघरा थाना के एसआई एवं प्रखंड विकास पदाधिकारी तेघरा संदीप कुमार पांडे ने विद्यालय पहुंचा। दोनों पदाधिकारियों को ग्रामीणों का आक्रोश झेलना पड़ा। प्रखंड विकास पदाधिकारी ने ग्रामीणों को समझा-बुझाकर प्रधानाध्यापक को थाना भेज दिया। शिक्षिका रेखा सिन्हा पति अमरेश कुमार हंस मनारा नालंदा से हैं। तेघरा के किराए की रूम ले रखे हैं । वहीं से विद्यालय प्रत्येक दिन आना जाना होता है। विद्यालय के शिक्षकों के अनुसार विद्यालय में 14 पदस्थापित शिक्षक हैं। 1098 नामांकित छात्र छात्राएं हैं। जिसमें एक से 10 तक की क्लास की पढ़ाई होती है। कुल कमरा की संख्या 9 है जिसमें एक स्टोर को छोड़कर मात्र आठ कमरे में पढ़ाई होती है। दो कमरा में कुल 4 क्लास की पढ़ाई होने की वजह से बच्चे भी आपस में लड़ते झगड़ते रहते हैं। प्रधानाध्यापक सभी उपस्थिति रजिस्टर अपने गोदरेज में बंद रखते हैं इनका व्यवहार विद्यालय के शिक्षक व शिक्षिकाओं के प्रति असहयोगात्मक रखता रहता है। जिसके वजह से इस तरह की समस्या उत्पन्न है।
ग्रामीण में रवि कुमार, मुस्कान कुमार, बालमुकुंद नवनिर्वाचित वार्ड सदस्य दिनेश राय के अलावा अन्य ग्रामीणों ने बताया कि प्रधानाध्यापक की मनमानी एवं दबंगता कि वजह से विद्यालय परिवार के साथ आए दिन ऐसे घटना घटित होते रहता है। प्रत्येक मंथ 30 से 40 बच्चों का नाम काटकर छात्रों के अभिभावक से नामांकन के नाम पर अवैध वसूली में लगे रहते हैं। अभिभावक द्वारा विरोध करने पर उन्हें विद्यालय शिक्षण कार्य में बाधा डालने के नाम पर फंसाने की धमकी दी जाती है। ग्रामीणों ने प्रखंड विकास पदाधिकारी से मांग किया कि इनके तबादला कर कोई योग्य प्रधानाध्यापक की विद्यालय में प्रतिनियुक्ति की जाए।

अशोक कुमार ठाकुर की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *