Nawada : गैर इमारती संग्रह और विपणन सब्जी का नर्सरी तैयार करने के लिए दी गई प्रशिक्षण।

प्रशिक्षण शिविर में उपस्थित प्रशिक्षक व महिलाएं व अन्य

Nawada : रजौली प्रखंड क्षेत्र के आठ गांव के किसानों के बीच नाबार्ड द्वारा स्वीकृत एवं महिला विकास समिति द्वारा क्रियान्वित क्लाइमेट प्रूफिंग योजना के तहत प्रशिक्षण का आयोजन किया गया।
प्रशिक्षण का विषय मुख्य रूप से गैर इमरती वनोपज संग्रह और विपणन तथा सब्जी का नर्सरी तैयार करने की विधि रहा।प्रशिक्षण कार्यक्रम डुमरकोल प्राथमिक विद्यालय में आयोजित किया गया।इसमें प्रतीक्षा का ब्लॉक कृषि पदाधिकारी वारसलीगंज नवादा से आए अंगद कुमार ने लोगों के बीच प्रशिक्षण देकर विस्तृत रूप से चर्चा किए।प्रशिक्षक ने बीजों के प्रकार एवं मौसम के अनुकूल उत्पादकता वाले बीज,संशोधन की प्रक्रिया एवं लाभ, बेड पद्धति द्वारा नर्सरी तैयार करने की विधि,ट्रे अथवा थाली बैग में बीज लगाने की विधि, नर्सरी के लिए मिट्टी तैयार करने की विधि,नर्सरी के तैयार पौधों को खेतों में लगाने की विधि एवं फसल चक्र के दौरान कीटनाशक तथा जैविक खाद का उपयोग के बारे में विस्तार से बताया गया।

साथ ही गांव के उपलब्ध संसाधन जैसे नदी किनारे की सिल्ट मिट्टी में मिला कर नर्सरी बेड तैयार करने की जानकारी दी गई। प्रशिक्षक ने बताया कि तैयार फसल कटने से 20-25 दिन पहले नर्सरी स्थापित कर लेना चाहिए ताकि पौधरोपण समय से हो सके।प्रशिक्षण कार्यक्रम में चपहेल जलवायु परिवर्तन क्षेत्र के गांव एकचटवा,चोरनो,पचंबा, राजा बीघा, झिरझो,कुमहरूआ, चपहेल एवं डूमरकोल से करीब 80 महिला पुरुषों ने भाग लिया।प्रशिक्षण में महिला विकास समिति के प्रबंधक सचिन कुमार ने कार्यक्रम का संचालन किया तथा सचिव लीला कुमारी एवं क्षेत्र के दर्जनों महिला समाज सेविका मौजूद रहे।

रिर्पोट : ऋषभ कुमार( रजौली)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *