कड़ाके की ठंड ने बढ़ाई लोगों की परेशानी, आम जन जीवन अस्त व्यस्त।

तेघरा (बेगूसराय) : प्रखंड के ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में लगातार ठंड का कहर जारी है 3 दिनों से चल रही सर्द हवा की वजह से तापमान में गिरावट आने के कारण ठंड इतना तेजी से बढ़ रहा है कि शाम ढ़लते ही कपकपी का एहसास होने लगता है। जिसकी वजह से घर से निकलना दुर्लभ होते जा रहा है। सुबह में घने कोहरा छाने से पूरा ग्रामीण क्षेत्र का इलाका ढका हुआ रहता है। बच्चों को विद्यालय एवं कोचिंग सेंटर जाने में काफी मशक्कत का सामना करना पड़ता है। बढ़ती ठंड की वजह से बाइक सवार चालकों एवं रिक्शा ,ठेला चलाने वालों को सड़कों पर सफर करना मुश्किल सा हो गया है। काम पर जाने वाले मजदूरों के लिए भी सुबह काम पर पहुंचना एवं समय पर घर आने में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।ठंड की वजह से ग्रामीण क्षेत्रों एवं बाजार की सड़कों-गलियों 7:बजे शाम के बाद सुनसान सा लगने लगता है। शाम- सुबह बाजार एवं चौक चौराहे पर अलाव की व्यवस्था नहीं होने से रिक्शा, ठेला चालकों एवं मुसाफिरों तथा असहाय लोगों को काफी परेशानी हो रही है। ठंड के प्रति लापरवाही बरतने के कारण लोग बीमार पड़ते नजर आ रहे हैं। बेगूसराय विष्णु ट्रामा सेंटर के हड्डी, जोड़ एवं रीढ़ रोग विशेषज्ञ डॉ प्रवीण कुमार ने ठंड के प्रति सावधानी एवं सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। साथ ही रात में गर्म भोजन का उपयोग करनेतथा शाम के बाद पानी को गर्म करके सुसुम पानी पीने की सलाह दी।उन्होंने बताया कि ठंड के शुरुआती दौर में विभिन्न बीमारियों का हमला तेज हो सकता है। जिसमें सर्दी सुखी खांसी के साथ ही यूरिक एसिड की समस्या होने लगती है। ठंड केवल सर्दी बुखार ही नहीं बल्कि कमर दर्द एवं नस संबंधित रोगों को बढ़ने की प्रबल संभावना रहती है। यह किसी भी उम्र के लोगों को हो सकता है इसलिए बरीय नागरिकों को विशेष सतर्कता बरतनी चाहिए। बराबर व्यायाम करने वाले लोगों के हड्डियों में लचीलापन होता है इसलिए व्यायाम और योग को अपने दैनिक रुटीन का हिस्सा बनाना चाहिए।

अशोक कुमार ठाकुर की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *