Begusarai : सीपीआई के अंचल मंत्री रामाधार ईश्वर का निधन 
सभी राजनीतिक,गैर राजनितिक दल के लोगों दी अंतिम विदाई ।

शव का दर्शन करने उमड़ी जनसैलाव 

मंसूरचक(बेगूसराय) : प्रखंड क्षेत्र के दशरथपुर गांव निवासी 65 वर्षीय सीपीआई के अंचल मंत्री रामाधार ईश्वर का निधन मंगलवार कि रात अचानक दिल का दौड़ा पर जाने से पैतृक आवास पर मंगलवार की देर रात निधन हो गया।उनके निधन की खबर सुन पूरे इलाके में शोक की लहर दौड़ पड़ी और रात से ही उनके आवास पर लोगों का आने जाने का शिल-शिला जारी रहा।सुबह होते ही शव का दर्शन करने इलाके का जनसैलाव उमड़ पड़ी।सीपीआई के जिला मंत्री सह पूर्व विधायक अवधेश कुमार राय,सीपीआई के प्रदेश कार्यकारणी के सदस्य सत्यनारायण महतों,महेश्वर प्रसाद सिंह,जुल्म सिंह,दिनेश प्रसाद सिंह,बिन्देश्वरी महतों,रामनरेश महतों,भगवानपुर प्रखंड उप अंचल मंत्री अशोक राय;एवाईएफआई के नेता मनीष कुमार विश्वास,पिंटू कुमार,शिवचन्द्र महतों,पूर्व मुखिया निरंजन कुमार ईश्वर आदि ने उनके आवास पर पहुंच कर परिवार के लोगों को संत्वना देकर शव को सीपीआई पार्टी कार्यालय मंसूरचक फाटक चौक लाया गया जहाँ भाकपाईयो ने नम आंखों से  पार्टी का लाल झंडा देकर अंतिम विदाई दिया।भाकपाईयो ने रामाधार ईश्वर जिन्दाबाद,तेरी अरमानो को मंजील तक पहूंचायेगें का नारा लगा रहें थें।जिला मंत्री अवधेश कुमार राय ने कहा कि लाल झंडा के सिपाहियों में से एक अलग पहचान रामाधार ईश्वर जी का रहा हैं।जिन्होंने लगातार शोषित,पिड़ित,आम आवाम की आवाजों को बुलंद करने में अपनी महती भूमिका आदा करते रहें।

उनकी निधन से पार्टी को बहुत बड़ी झटका लगी हैं।समाजसेवी अमीत किराना गुप्ता,यूथ कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष शिवप्रकाश गरीब दास,कांग्रेस के प्रखंड अध्यक्ष बालेश्वर महतों,विधायक सुरेन्द्र मेहता,किसान नेता उमेश सिंह,बैधनाथ महतों,राजद के प्रखंड अध्यक्ष धमेंद्र रजक,मंसूरचक पंचायत के मुखिया पति अरमान कुरैसी,राजद के जिला उपाध्यक्ष रविनंदन सिंह,अरूण यादव सहित अन्य ने भी शव पर पुष्प अर्पित करते  हुये गहरी शोक संवेदना ब्यक्त किया।दुसरी ओर गंगा भासो नंदनी जनजागरन समिति के अध्यक्ष सह पूर्व जिला पार्षद रामोद कुंवर,युवा नेता अमित गौतम,सेवानिवृत शिक्षक रामचन्द्र झा,समाजसेवी संजय कुमार ईश्वर,धर्मसागर झा ने उनके निधन पर गहरी शोक संवेदना ब्यक्त करते हुए  एक महान राजनितिक दल के नेता को खो देने की बात कही।रामोद कुंवर ने कहा रामाधार ईश्वर एक परिपक्व राजनीतिक दल के नेता होते हुये भी सबों के हर सुख-दुख में कंधे से कंधे लगाकर चलने वाले नेता थे।

गणेश प्रसाद की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *