सारण : फैमिली प्लानिंग लॉजिस्टिक मैनेजमेंट इंफॉर्मेशन सिस्टम को मजबूत करने को दिया गया प्रशिक्षण

ब्यूरो अमित कुमार सिंह

सारण : फैमिली प्लानिंग लॉजिस्टिक मैनेजमेंट इंफॉर्मेशन सिस्टम को मजबूत करने को दिया गया प्रशिक्षण

• अब ऑनलाइन मिलेगी परिवार नियोजन के साधनों की खपत और आपूर्ति की जानकारी

• केयर इंडिया के सहयोग से दी गयी ट्रेनिंग

• फार्मासिस्ट और स्टोरकीपर को किया गया प्रशिक्षित

छपरा,23 दिसंबर। फैमिली प्लानिंग लाजिस्टिक मैनेजमेंट इंफार्मेशन सिस्टम के सुचारू क्रियान्वयन सुनिश्चित कराने के उद्देश्य से जिला स्वास्थ्य समिति की ओर से प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिला स्वास्थ्य समिति के डीसीएम ब्रजेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि परिवार नियोजन स्थाई व अस्थाई साधन कंडोम, अंतरा इंजेक्शन, छाया गोली, माला एन व अन्य शामिल हैं। प्रखंड स्तर पर इन संसाधनों की उपलब्धता निर्धारित पोर्टल पर अपलोड किया जाता है। ताकि प्रखंड स्तर पर इन सामग्रियों की मांग के अनुरूप आपूर्ति की व्यवस्था सुनिश्चित करायी जा सके।लॉजिस्टिक मैनेजमेंट इंफार्मेशन सिस्टम के माध्यम से प्रखंड भंडार गृह में इन सामग्रियों की उपलब्धता का पता लगाना आसान होगा। इसके आधार पर एक प्रखंड से दूसरे प्रखंड को उक्त सामग्री हस्तगत कराना आसान हो सकता है। आनलाइन माध्यम से परिवार नियोजन के उपायों को लेकर उपलब्ध सामग्री के प्रबंधन को बेहतर बनाना व रिपोर्टिंग की प्रक्रिया को आसान बनाते हुए आम लोगों को नियोजन संबंधी बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के लिहाज से प्रशिक्षण कार्यक्रम को उन्होंने महत्वपूर्ण बताया। इस मौके पर डीसीएम ब्रजेन्द्र कुमार सिंह, केयर इंडिया की परिवार नियोजन समन्वयक प्रेमा कुमारी, राजीव कुमार, कन्हैया राय, दिनेश प्रजापति समेत सभी प्रखंडों के फर्मासिस्ट और भंडारपाल मौजूद थे।
परिवार नियोजन से जुड़ी सेवाओं को करना है मजबूत:
केयर इंडिया की परिवार नियोजन समन्वयक प्रेमा कुमारी ने कहा कि परिवार नियोजन से जुड़ी सेवाओं को मजबूती प्रदान करने के उद्देश्य से भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा चिकित्सा संस्थानों में विभिन्न सामग्री उपलब्ध करायी जाती है। इसके लॉजिस्टिक मैनेजमेंट की प्रक्रिया को दुरुस्त बनाने के उद्देश्य से ऑनलाइन सिस्टम विकसित की गई है। इसकी मदद से जिला, राज्य व केंद्र स्तर पर परिवार नियोजन से जुड़ी सामग्रियों का ससमय बेहतर अनुश्रवण सुनिश्चित कराया जा सकेगा। ताकि लोगों को बेहतर सेवाएं उपलब्ध करायी जा सके।

हर स्तर नियोजन के अस्थायी साधन की उपलब्धता जरूरी:
प्रशिक्षण के दौरान बताया गया कि लाजिस्टिक मैनेजमेंट इंफार्मेशन सिस्टम के माध्यम से परिवार नियोजन के साधनों की मांग व वितरण में पारदर्शिता आएगी। इसके माध्यम से परिवार नियोजन के उपायों से जुड़े संसाधन की मॉनिटरिंग राज्य स्तर से आशा के स्तर तक की जा सकेगी। इससे परिवार नियोजन के अस्थाई साधनों की उपलब्धता जिला से लेकर ग्राम स्तर पर सुनिश्चित करायी जा सकेगी। ताकि कोई भी दंपति अपनी रुचि के आधार पर इन साधनों का चयन करते हुए इसका लाभ उठा सके। जो जिले के प्रजनन दर में कमी लाने के लिहाज से महत्वपूर्ण है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *