BREAKING NEWS
मुख्यमंत्री के गृह जिले में 'सात निश्चय' योजना अधूरी : 10 साल बाद भी नल जल से वंचित गांव...        कोसुक डंपिंग यार्ड से निकलने वाले जहरीले धुएं से ग्रामीण परेशान : ग्रामीणों की सेहत पर खतरा...        नालंदा में ग्रामीण विकास मंत्री के ही क्षेत्र में नही हुआ है सड़कों का विकास...        रामनवमी जुलूस और लोकसभा चुनाव प्रशासन की प्रतिबद्धता : शांतिपूर्ण और निष्पक्ष तरीके से होगा आयोजन...        रामलखन सिंह यादव महाविद्यालय के छात्रों ने लोकतंत्र को करीब से समझा : आखिर कैसे पढ़िए पूरी खबर...        रामनवमी शोभा यात्रा को स्थगित किए जाने को लेकर विहिप द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति है भ्रामक : जिला प्रशासन करेगी जांच...        क्षेत्र भ्रमण के दौरान जनता ने सांसद कौशलेंद्र कुमार को दिखाया सच का आईना...        वर्ग 5 एवं वर्ग 8 की वार्षिक परीक्षा समाप्ति के उपरांत शिक्षक व अभिभावक का बैठक आयोजन...        बिहारशरीफ में पंचाने नदी के किनारे युवक का शव मिलने से सनसनी...        है तैयार हम : नालंदा पुलिस द्वारा जिले से अपराधी व अपराध का सफाया अभियान जारी...       
post-author
post-author
post-author
post-author

भाजपा कार्यकर्ताओं ने सीएम नीतीश का फूंका पुतला

Bihar 09-Jun-2023   9237
post

आठवीं पास तेजस्वी मुख्यमंत्री कैसे बने ? : ई. रविशंकर

बिहारशरीफ : 1710 करोड़ रुपये से बन रहे सुल्तानगंज,अगुवानी पुल के निर्माण अवधि में ही दुबारा ध्वस्त होकर गंगा नदी में समा जाने पर शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी, नालंदा के जिलाध्यक्ष ई. रविशंकर प्रसाद सिंह के नेतृत्व में भाज्य कार्यकर्ताओं द्वारा नालंदा जिला मुख्यालय बिहार शरीफ में विरोध प्रदर्शन करते हुए अस्पताल चौराहा पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला दहन किया गया। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भाजपा प्रदेश प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल रहे। जनता के पैसे को इस प्रकार घोर भ्रष्टाचार, कमीशनखोरी द्वारा बंदरबांट कर लूटने के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं ने बिहार सरकार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार,उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव एवं पुल निर्माण कंपनी की मिलीभगत एवं जिम्मेवार ठहराया। इस अवसर पर प्रदेश प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल ने बिहार सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि यह पैसा बिहार की जनता का धा, एक साल के आस पास दोबारा इस पुल का गिर जाना, 1750 करोड़ रुपए से अधिक की धनराशि का इस प्रकार गंगा नदी में डूब कर स्वाहा हो जाना इसमें बहुत बड़ा घोटला दर्शा रहा है। पुल गिरने के बाद विभिन्न जांच कमिटी का रिपोर्ट आने से पहले ही फिर से उसी कंपनी से काम शुरू करवाना, बिहार सरकार द्वारा उसमे 300 करोड़ की राशि को और जोड़ देना यह दिखाता है कि कहीं न कहीं बिहार सरकार और पुल निर्माण कंपनी के बीच बहुत बड़े स्तर पर बंदरबांट है और यह बिहार के जनता के साथ धोखा है। आखिर बिहार सरकार इस मामले में सी बी आई या सीटींग जज से यह जांच क्यों नहीं करवा रही है ? उन्होंने कहा कि भाजपा द्वारा पूरे बिहार में इस मामले पर कड़ा विरोध किया जा रहा है। यदि बिहार सरकार निष्पक्ष रूप से कार्य नहीं करती है तो व्यापक स्तर पर आंदोलन किया जाएगा। जिलाध्यक्ष ई. रविशंकर प्रसाद सिंह ने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव कहते हैं कि सी बी आई के लोग इंजीनियर हैं क्या? तो फिर आप तो आठवाँ पास हैं आप उपमुख्यमंत्री कैसे बने हुए हैं? आप को क्या अनुभव है सरकार चलाने का? इस अवसर पर जिला उपाध्यक्ष राजेश्वर प्रसाद सिंह, आश्रिति पटेल, जिला महामंत्री शैलेन्द कुमार, रीना कुमारी, नालंदा विधानसभा पूर्व प्रत्याशी कौशलेन्द्र कुमार उर्फ छोटे मुखिया, जिला मंत्री डा आशुतोष कुमार, रवि राज, तेजस्विता राधा, रविशंकर मंडल, चंचला कुमारी उपेन्द्र राजवंशी, जिला प्रवक्ता अमरकांत भारती, बिहार शरीफ महानगर उत्तरी अध्यक्ष अमरेश कुमार, किसान मोर्चा जिला अध्यक्ष महेंद्र यादव, नगर उपाध्यक्ष विश्वनाथ कुमार, निराला कुमार,नगर महामंत्री अमित शान सिंह, शिवम भारती, सूरज कुमार, अनूप साव सहित कई कार्यकर्ताओं की उपस्थिति रही।

post-author

Realated News!

Leave a Comment

Sidebar Banner
post-author
post-author
post-author
post-author