BREAKING NEWS
बिहार शरीफ में अहीर रेजिमेंट के गठन की मांग...        गुरुकुल विद्यापीठ में विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन : बच्चों ने दिखाया वैज्ञानिक सोच...        फ़िल्मी स्टाइल में बैंक लूट : एनकाउंटर के लिए बुलेट प्रूफ जैकेट डालते रह गए SP, लुटेरे हुए उड़न छू...        शॉर्ट सर्किट से लगी आग, पांच लाख की संपत्ति जलकर हुई राख...        81 करोड लोगों को मिलता रहेगा मुफ्त राशन : कांता कर्दम...        लकवा लाइलाज नहीं जानिए समय पर लक्षण पहचान कर कैसे बचा सकते है पीड़ित की जान...        पांच दिवसीय भारत स्काउट गाइड प्रशिक्षण हुआ सम्पन्न...        तीन दिवसीय राजगीर महोत्सव का आगाज : प्रभारी मंत्री विजय कुमार चौधरी ने किया उद्घाटन...        फरार अभियुक्त को पुलिस ने किया गिरफ्तार...        सांसद ने आदित्य अस्पताल का किया शुभारंभ : सर्जरी के अलावे गंभीर बीमारियों का मिलेगा उपचार...       
post-author

प्रसूति महिला ने स्वास्थ केंद्र कर्मचारियों पर पैसे उगाही करने का लगाया आरोप : रहुई सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज के लिए जारी है रेट कार्ड

Bihar 09-Jul-2023   9947
post

नालंदा : जिला अंतर्गत रहुई प्रखंड क्षेत्र के रहुई सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रसूति महिलाओं से किया जा रहा है 1000 से 2000 रुपए की अवैध उगाही। वही इस संबंध में गर्भवती महिलाएं के परिजनों ने बताया कि सिर्फ उनसे ही नहीं बल्कि जितनी भी गर्भवती महिलाएं आती हैं सभी से 1000 से ₹2000 रुपए की अवैध उगाही किया जाता है। अगर इंजेक्शन देने का हो तो उसका शुल्क ₹400 रुपए, धोड़ी के नाली काटना के लिए शुल्क ₹100 रुपए, खुशनुमा शुल्क 400-500 रुपए, बच्चा होने की खुशी में अगर 4 स्टाफ है तो 400 रुपए यानी की टोटल जोड़ा जाए तो 1400 रुपए तक की उगाही हर गर्भवती मरीजों के परिजनों से किया जाता है। सरकारी अस्पताल में गरीब मरीज ही जाया करते हैं और उसके बाद गरीब लोगों को भी फ्री और सरकारी सुविधा की वजह 1000 से 2000 के अवैध रूप से देना पड़े तो कैसा सरकारी अस्पताल। आपको बता दे की यह मामला पहला नहीं है ऐसे कई मामले जिला अस्पताल से लेकर प्रखंड अस्पतालों तक का है जो बेहद फलफूल रहा है।सूत्रों के अनुसार इस कारोबार में बड़े बड़े अधिकारियों की मिलीभगत भी है। और जब भी कभी ऐसा मामला वरीय अधिकारियों के संज्ञान में आता है तो कारवाई का आश्वासन तो मिलता है लेकिन परिणाम शून्य ही रहता है। वहीं इस मामले को लेकर जब रविवार को सिविल सर्जन नालंदा से संपर्क साधने का प्रयास किया गया तो कोई भी उत्तर इस संबंध में नही मिला।


post-author

Realated News!

Leave a Comment

Sidebar Banner
post-author